जागरण संवाददाता, भभुआ: भूमि संरक्षण विभाग के अंतर्गत संचालित प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2.0 से पहाड़ी प्रखंड अधौरा के गांवों की तस्वीर बदलेगी। पहाड़ी क्षेत्र के लोगों को रबी व खरीफ की फसलों के उत्पादन के लिए जल संरक्षण किया जाएगा। सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही भूमिहीन महिलाओं का समूह गठित कर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने की कवायद की जाएगी। इसको लेकर पदाधिकारियों द्वारा गांव में बेसलाइन सर्वे का कार्य किया जा रहा है।

बीपीएल परिवार के युवाओं को मुर्गी पालन बकरी पालन बागवानी सहित अन्य रोजगारपरक प्रशिक्षण देकर आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने की भी पहल की जा रही है। पहाड़ी प्रखंड क्षेत्र के लिए दो परियोजनाओं की स्वीकृति विभाग द्वारा दी गई है। इस संबंध में भूमि संरक्षण विभाग के परियोजना पदाधिकारी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि जिले में दो परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए स्वीकृति मिली है। जिसके अंतर्गत योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए बेसलाइन सर्वे का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। 

उन्होंने कहा न्यू जनरेशन पीएम कृषि सिंचाई योजना के तहत पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश के पानी का संरक्षण करने के लिए जल संचयन संरचनाओं के अंतर्गत तालाब बांध आदि का निर्माण कार्य कराया जाएगा। ताकि पहाड़ी क्षेत्र में रबी खरीफ की फसलों का बेहतर उत्पादन वहां के लोग प्राप्त कर सकें। साथ ही उन्हें आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने के लिए भी कई अन्य योजनाएं संचालित होंगी। उन्होंने यह भी बताया कि इस योजना के अंतर्गत वैसी महिलाओं का समूह गठित किया जाएगा जो पूरी तरह से भूमिहीन हैं। 

उन महिलाओं को योजना के अंतर्गत रोजगार परक प्रशिक्षण देकर विभिन्न रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। ताकि वह आर्थिक रूप से सशक्त बन सके। इसके अलावा बीपीएल परिवार की श्रेणी में आने वाले परिवारों के युवा सदस्यों को भी बकरी पालन मुर्गी पालन बागवानी सहित अन्य रोजगारपरक प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Edited By: Prashant Kumar Pandey