गया, जागरण संवाददाता। गया जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर तीन से गुरुवार को महाबोधि एक्सप्रेस (02397) पास कर रही थी। इसी दौरान आरपीएफ ने एक महिला को संदिग्‍ध हालत में देखा। उसे पकड़ा गया तो पता चला कि यह महिला चोरी कर रही थी।उसके पास से पर्स, रुपये आदि बरामद किए गए। पकड़ी गई महिला झारखंड के चंद्रपुरा जिला के चंद्रपुरा मदरसा निवासी गंगा देवी के रूप में की गई। उससे जब पति का नाम पूछा गया तो पुलिस भी हैरान रह गई। उसने पति का नाम निरहुआ बताया। बरामद पर्स में रुपये, मोबाइल आदि बरामद किए गए। जिसका सामान चोरी हुआ था, उसको सूचना भी दे दी गई। गिरफ्तार महिला से पूछताछ की जा रही है ताकि पहले की अन्‍य घटनाओं का भी सुराग मिल सके। 

यह भी पढ़ें : BIHAR POLITICS: सीएम नीतीश कुमार की पार्टी में पंचायत चुनाव के बाद दिख सकता है बदलाव का विस्तृत स्वरूप

यह भी पढ़ें- मांग में सिंदूर भरने के बाद जाने लगा प्रेमी तो छलक आईं प्रेमिका की आंखें, जानिए औरंगाबाद की घटना

गुलाबी रंग के पर्स में मिले रुपये व मोबाइल 

जानकारी के अनुसार आरपीएफ उपनिरीक्षक मोनिका सिंह के नेतृत्व आरपीएफ की टीम महाबोधि एक्‍सप्रेस ट्रेन पास करा रही थी। इसी दौरान एक महिला को देखकर आरपीएफ की टीम को शंका हुई। महिला को रोका गया तो वह भागने लगी। लेकिन उसे पकड़कर जांच की गई तो उसके पास से एक गुलाबी रंग का लेडीज पर्स बरामद किया गया। उस हैंडबैग में 1525 नगद तथा एक मोबाइल था। महिला ने पूछताछ में बताया कि उसने चोरी की है। वह झारखंड से यहां आकर घटना को अंजाम देती रही है। 

नवादा की महिला के थे पर्स 

पर्स में मिले मोबाइल पर कॉल आया। यह गया जिले मानपुर शिवचरण लेन शिवनारायण प्रसाद का था। बताया गया कि उनकी भांजी मोनी देवी पति सुमित कुमार, नवादा जिले के कादिरगंज की रहने वाली है। वह गया से कानपुर की यात्रा करने वाली थी। इसी दौरान उसका पर्स चोरी हो गया। एसआइ मोनिका सिंह ने बताया कि पर्स और मोबाइल पुलिस के कब्‍जे में है। इसके बाद बरामद सामान और गिरफ्तार महिला को जीआरपी के हवाले कर दिया गया। इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। उससे पूछताछ की जा रही है। 

Edited By: Vyas Chandra