जागरण संवाददाता, गया। जदयू (Janta Dal United) के बागी पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि ने राजद सुप्रीमाे लालू यादव और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर बड़ी बात कह दी है। उन्‍होंने दोनों के शासनकाल को निराशाजनक बताया है। साथ ही अलग पार्टी का मन बना लिया है। इसको लेकर नागमणि ने जनसंपर्क शुरू कर दिया है। उन्‍होंने कहा कि अब बिहार में नई पार्टी की आवश्‍यकता है, जो जनता की सोच-समझ के अनुसार काम करें, क्‍योंकि अब पहले वाली बात नहीं है। जनता की जरूरतें बदल गईं हैं। युवा सोच पर अमल करने की जरूरत है।

उन्‍होंने गुरुवार को गया शहर के एक होटल में मीडिया से बातचीत में कहा कि लालू यादव के 15 वर्ष और नीतीश कुमार के 16 वर्ष के शासन से जनता ऊब गई है। राज्‍य में शिक्षा एवं स्वास्थ्य व्‍यवस्‍था पूरी तरह से चौपट हो गई है। साथ ही बेरोजगारी भी चरम पर है। विधि व्यवस्था तो पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है। प्रत्येक दिन हत्या, लूट, डकैती, अपहरण एवं दुष्कर्म की घटना घट रही है। घटना को लेकर जनता भयभीत है। जनता की मांग है कि अलग पार्टी बनाकर सरकार बनाएं। इसमें सभी समाज के लोगों की भागीदारी सुनिश्चित कराई जाए। अलग पार्टी बनाने को लेकर जनसंपर्क का काम चल रहा है।

यह भी पढ़ें - बिहार में फिर 'फ्री' होगी शराब, पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि ने कहा- एक बार मेरी सरकार बनने तो दीजिए

जनसंपर्क का काम 29 सितंबर तक चलेगा। उसके बाद नयी पार्टी का गठन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा (Bhartiya Janta Party), राजद (Rashtriya Janta Dal), जदयू सहित सभी पार्टी प्राइवेट कंपनी की तरह है। जैसे कंपनी में दो-तीन लोग प्रमुख होते है, उसी तरह उक्त पार्टी में दो-तीन लोगों को तरजीह दी जाती है। उन्होंने कहा कि जगदेव प्रसाद गरीबों को अधिकार दिलाने के लिए शहीद हो गए थे। लेकिन, लालू यादव और नीतीश कुमार गरीबों के विरोधी है। दोनों ने गरीबों को लिए कुछ भी नहीं किया। मौके पर मुमताज अली सहित कई लोग मौजूद थे।

Edited By: Prashant Kumar