गया, जागरण संवाददाता। जनधिकार पार्टी सुप्रीमो सह पूर्व सांसद पप्पू यादव को पटना में हिरासत में लिए जाने के विरोध में जिले में भी राजनीति तेज हो गई है। जाप के प्रदेश प्रवक्‍ता राजीव कुमार कन्‍हैया के नेतृत्‍‍‍व में मंगलवार शाम मानपुर में जेजे कॉलेज के पास मुख्‍यमंत्री का पुतला दहन किया गया। इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्‍ता ने कहा कि बिहार में सरकार की नाकामियों को उजागर करना गुनाह है। अगर आप यह जुर्म करेंगे तो सलाखों के पीछे डाल दिए जायेंगे। जी हां नीतीश कुमार ने अपनी पुलिस को ये आदेश दे दिया है। पूर्व सांसद पप्पू यादव इसके पहले शिकार बने हैं।

पप्‍पू यादव की गिरफ्तारी से नाराज हैं आम लोग 

सुशासन की पुलिस ने आज उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि पप्पू यादव लगातार लॉकडाउन का उल्‍लंघन कर रहे थे। पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद बिहार में बवाल मच गया है। आम लोगों में सरकार के खिलाफ भारी नाराजगी है। जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव जी आम लोगों के बीच जाकर उनको मदद करने का काम कर रहे थे, सरकार की अनियमितता को उजागर करने का काम कर रहे थे। आज उसका परिणाम है कि सरकार के इशारे पर उनको आज गिरफ्तार करने का काम किया गया है।उन्‍होंने कहा कि आज चार चार थाने की पुलिस उनकी गिरफ्तारी करने गई थी ऐसा लगता है कि बहुत बड़े अपराधी की गिरफ्तारी पटना में हो रही थी।  निश्चित रूप से सरकार को लग रहा था कि जब तक पप्पू यादव रहेंगे तब तक सरकार के आनमिता को उजागर करने का काम करेंगे इसलिए एक रणनीति के तहत उनकी गिरफ्तारी हुई है। आप के माध्यम से में बताना चाहता हूं कि पप्पू यादव बिहार के सेवादार हैं अगर अविलंब सरकार उनको रिहा नहीं करती है तो लॉक डाउन का उल्लंघन करते हुए आंदोलन होगा। 

सरकार ने लोगों को अपने हाल पर छोड़ दिया

जाप प्रवक्‍ता ने कहा कि कोरोना काल में सरकार ने लोगों को अपने हाल पर छोड़ दिया है। हर दिन हजारों लोग मर रहे हैं। लेकिन पप्‍पू यादव ने जब लोगों की मदद की तो यह बात सरकार को नागवार गुजरी। अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज की कुव्‍यवस्‍थ उजागर की,  सारण के सांसद के पास छिपाकर रखी गई एंबुलेंस का मामला उठाया तो उनपर प्राथमिकी दर्ज करा दी गई। लेकिन इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा। मालूम हो कि पहली मई को पूर्व सांसद ने अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल पहुंचकर वहां कुव्‍यवस्‍था का आरोप लगाया था। इस दौरान उन्‍होंने सरकार के साथ ही डॉक्‍टरों पर भी निशाना साधा था।