खिजरसराय, गया। अनुमंडल मुख्यालय में शुक्रवार को अनुमंडल अनुश्रवण समिति की बैठक एसडीएम मनोज कुमार की अध्यक्षता में हुई। बैठक से ज्यादातर सदस्य अनुपस्थित थे।

कई सदस्यों ने बैठक की पूर्व सूचना नहीं होने की बात कही। अतरी के प्रखंड प्रमुख नवल सिंह ने बताया कि बैठक में किसानों और गरीबों के मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं की जाती है। यहां उठाए गए मुद्दों पर प्रशासन द्वारा कार्रवाई नहीं की जाती है। इस वजह से कई सदस्यों ने बैठक का बहिष्कार कर रखा है, जिसमें अतरी प्रखंड प्रमुख व मोहड़ा प्रखंड प्रमुख अमरकात सिंह भी शामिल हैं। वहीं बैठक में मौजूद सदस्यों ने कुछ मुद्दों पर चर्चा की। राशन कार्ड का वितरण प्रखंड स्तर पर करने की बात कही। इसके अलावा ज्यादातर मुद्दे अनुश्रवण की बैठक से दूर रहे। अनुमंडल के चारों प्रखंड में भयंकर सुखाड़ के बाद भी किसानों को डीजल अनुदान सहित कोई लाभ नही मिल रहा है। पिछली बार भी इस विषय पर कार्रवाई के लिए लिखा गया था, पर अभी तक कोई पहल नहीं हुई है। अतरी और मोहड़ा प्रखंड में नवंबर बीत जाने के बाद जनवितरण के खाद्यान्न का उठाव शुरू नहीं किया गया है। सदस्य इसके लिए प्रयास नहीं किए जाने से नाराज थे। बैंकों के द्वारा किसानों व छात्रों को लोन नहीं दिए जाने पर भी चर्चा नहीं हुई। इसके अलावा एलपीजी उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर मिलने में हो रही परेशानी का मुद्दा भी था, जिस पर चर्चा नहीं हुई। किसानों के धान क्रय करने के लिए उठाए जाने वाले संभावित कदम की भी कोई जानकारी इसमें नहीं दी गई। बैठक में जिला परिषद सदस्य अजय कुमार, खिजरसराय के काग्रेस अध्यक्ष नवल किशोर शर्मा, बथानी प्रमुख मनोज कुशवाहा मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप