गया, जागरण संवाददाता। गया शहर में बुधवार को दोपहर में करीब आधे घंटे तक झमाझम बरसात हुई। यह सावन माह की पहली बारिश थी। जिसने थोड़ी देर के लिए ही सही पर लोगों के चेहरे पर मुस्कान ला दी। कई जगहों पर छोटे बच्चे, युवा पानी में भींगकर बारिश का लुत्फ उठाते भी दिखे। आसमान में हल्के बादल छाए हुए हैं। मौसम के पूर्वानुमान में अगले 48 घंटों में अच्छी बारिश होने के पूर्ण आसार हैं। हालांकि जिस हिसाब से शहरवासी उमस भरी गर्मी से परेशान हैं उसके लिए फिलहाल इस तरह की बारिश की अभी लगातार जरूरत महसूस की जा रही है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो यदि आने वाले दिनों में लगातार बारिश होती है तो अधिकतम तापमान नीचे आएगा। लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी।

जुलाई में नहीं हुई अच्छी बारिश, बाधित हो रही धान की रोपनी

जिले में जुलाई का महीना खरीफ खेती के लिहाज से बहुत उपयोगी है। किसान भाई इस पूरे महीने में तैयार बिचड़ा को उखाड़कर तैयार खेत में धान की रोपनी करते हैं। इसके लिए खेत में पर्याप्त पानी होना चाहिए। जो कि बारिश से ही बेहतर माना जाता है। जून की तुलना में जुलाई माह में अच्छी बारिश नहीं हुई है। बारिश के आंकड़ों के अनुसार 28 जुलाई तक जिले में 124.8 मिलीमीटर ही बारिश हुई है। जबकि इस माह का सामान्य वर्षापात 298.1 मिलीमीटर है। यानि सामान्य से काफी कम बारिश हुई है।

जिले में अब तक 37 फीसद हुई रोपनी

गया जिले में अब तक 37 फीसद धान की रोपनी हो सकी है। इस साल गया जिले में 1.51 लाख हेक्टयेर में धान की रोपनी करने का विभागीय लक्ष्य है। अभी तक 55 हजार 740 हेक्टेयर में रोपनी हुई है। जिला कृषि पदाधिकारी सुदामा महतो की मानें तो जिले के किसान थोड़ा लेट तक धान रोपते हैं। उन्होंने उम्मीद जताई है कि अगस्त के दूसरे हफ्ते तक शत- प्रतिशत धान की रोपनी हो जाएगी।

 

Edited By: Sumita Jaiswal