गया, जागरण संवाददाता। गया जिले के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र डुमरिया प्रखंड के मुख्य बाजार में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई थी। विजयदशमी के दिन इस प्रतिमा स्थल पर विशाल भंडारा भंडारा का आयोजन किया गया था। मूर्ति दर्शन और भंडारा में प्रसाद लेने के लिए अगल बगल गांव के काफी संख्या में लोग शुक्रवार को यहां पहुंचे थे। सब कुछ सामान्य तरीके से चल रहा था। इसी दौरान तीन की संख्या में रहे बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। अंधाधुंध फायरिंग में महिला समेत कुल चार लोग जख्मी हो गए। गोलीबारी के बाद कार्यक्रम स्थल पर भगदड़ मच गई। सब लोग अपनी जान बचाकर सुरक्षित स्थान की तरफ भागने लगे।

 इधर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। जिसे पूछताछ के बाद शनिवार को जेल भेजा जाएगा। जानकार बताते हैं कि विजयदशमी के दिन काफी संख्या में लोग आसपास के गांव से प्रतिमा दर्शन करने के लिए लोग आए थे। भगदड़ और गोलीबारी में जख्मी लोगों को पहले प्राथमिक उपचार डुमरिया में कराया गया। उसके बाद बेहतर उपचार के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल लाया गया है।

वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार ने बताया कि डुमरिया में भंडारा के दौरान कुछ शरारती तत्वों द्वारा गोलीबारी की गई है। इस गोलीबारी में चार लोग जख्मी हुए हैं। चारों जख्मी लोग खतरे से बाहर हैं। उन सभी लोग का इलाज मेडिकल कॉलेज में कराया जा रहा है। एसएसपी ने बताया कि घटना की जानकारी पर इमामगंज डीएसपी सहित अनुमंडल व थाना स्तर के वरीय अधिकारी पहुंचे थे। स्थिति सामान्य है। घटना के कुछ ही घंटों के बाद बदमाशों को पुलिस ने चिन्हित किया है। कारवाई करते हुए दो बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। उन दोनों बदमाशों से अनय सहयोगी यों के बारे में पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि देसी कट्टा से पूजा स्थल पर फायरिंग की गई है। सिर्फ 4 श्रद्धालुओं को गोली लगी थी बाकी सभी सुरक्षित हैं। घटना स्थल पर पुलिस कैंप कर रही है।

Edited By: Prashant Kumar