टिकारी (गया), संवाद सहयोगी। थाना क्षेत्र के मुसी ग्राम टोला गुलरियाचक में दहेज के लिए एक विवाहिता की हत्या कर शव को टायर रखकर जला देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। घटना 13 अक्टूबर की रात की बतायी गई है। घटना की सूचना के बाद पहुंचे मायके वालों ने मुख्य आरोपी महिला के पति को पकड़कर बेलागंज थाने की पुलिस को सुपुर्द कर दिया है। मामले को लेकर पिता ने लिखित प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जिसमें विवाहिता के पति, सास, चचेरे ससुर एवं ननद सहित सात लोगों को नामजद आरोपित बनाया गया है।

टिकारी थाना में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार हुलासगंज थानाक्षेत्र के मलहचक ग्राम के निवासी संजय कुमार यादव ने पुत्री निर्मल देवी का विवाह 2016 में मुसी ग्राम टोला गुलारियाचक ग्राम के गोपाल यादव के पुत्र निरंजन कुमार यादव के साथ की थी। पिता के अनुसार शादी के कुछ समय बाद ही निरंजन व उसके परिवार वालों ने निर्मल के परिजनों से दहेज की मांग करने लगे। दहेज की मांग पूरी नही करने पर निर्मला को शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करता रहता था। कुछ दिन पूर्व ही निरंजन अपने ससुराल पहुंचा। जहां विवाद को लेकर पंचायती के बाद पत्नी की विदाई कराकर घर लाया था। घटना की रात उसकी हत्या कर शव को नदी स्थित श्मशान घाट पर टायर रखकर जला दिया गया। संजय ने प्राथमिकी पत्र के आलोक में नामजद आरोपियों के विरुद्ध कठोर करवाई करने की मांग की है।

थानाध्यक्ष श्रीराम चौधरी ने बताया कि घटना को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। आरोपी पति को बेलागंज थानाक्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है। श्मशान घाट से कुछ साक्ष्य भी बरामद किया गया है। हत्यारोपी पति निरंजन कुमार यादव को जेल भेज दिया गया है।

13 अक्टूबर को निर्मल के भाग जाने की सूचना दी गई थी

विवाहिता के पिता संजय यादव ने बताया कि 13 अक्टूबर को निरंजन द्वारा फोन कर निर्मल के ससुराल से भाग जाने की सूचना दी गई थी। सूचना के आधार पर जब 14 अक्टूबर को अपनी बेटी निर्मल के घर पहुंचे तो उसकी हत्या कर शव को जला दिए जाने की जानकारी मिली। हत्या के कारणों की पूछताछ करने आरोपी अमरेश और आशीष यादव ने विवाहिता के पिता संजय को धमकी देते हुए कहा कि हां, तुम्हारी लड़की की हत्या कर दी है, जो करना है कर लो। उसके बाद जब संजय पुलिस के साथ श्मशान घाट पहुंचा तो वंहा टायर से शव को जलाने का साक्ष्य पाया गया।

Edited By: Sumita Jaiswal