संवाद सूत्र, मानपुर (गया)।  बेटियां, पिता की परियां होती हैं। अगर उनकी तरफ कोई आंख भी उठाकर देख ले तो पिता का खून खौल जाता है। इसका उदाहरण गया के मानपुर में देखने को मिला। हालांकि, इस दुखी पिता ने जो किया, वो बिल्‍कुल सही नहीं है।

मुफस्सिल थाना क्षेत्र सलेमपुर गांव में गुरुवार की रात एक पिता ने दामाद के हाथों बेटी को मार खाता देखकर आपा खो दिया। उसने पीट-पीटकर दामाद की हत्‍या कर दी। आरोपित दुर्गा साव काे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उसके दामाद मुन्‍ना साव का शव पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया। मुन्‍ना भुसूंडा बालापर नामक गांव का रहने वाला है। वह सलेमपुर स्थित ससुराल आया था, वहीं घटना हुई।

प्रभारी थानाध्‍यक्ष अविनाश कुमार ने बताया कि शादी के बाद से ही मुन्‍ना पत्‍नी को प्रताडि़त करता था। इसकी शिकायत विवाहिता ने कई बार मायके में की। वह अक्‍सर उसे मायके भेज देता था और वहां जाकर भी पिटाई करता था। इसी कड़ी गुरुवार की रात दुर्गा साव ने देखा कि मुन्‍ना पत्‍नी को बेरहमी से पीट रहा है तो उसने विरोध किया। बात बढ़ गई और दुर्गा ने मुन्‍ना को मौत के घाट उतार दिया।

बताया जाता है कि दुर्गा ने डंडे से मुन्‍ना की पिटाई की। उसका सिर फट गया और अधिक रक्‍तस्राव होने की वजह से उसकी मौत हो गई। हालांकि, पुलिस को घटनास्‍थल से हत्‍या में प्रयुक्‍त डंडा नहीं मिला। आरोपितों ने शव छुपाने की कोशिश भी की थी, लेकिन हंगामा होने के कारण पड़ोसियों को घर के अंदर की कलह के बारे में पता चल गया था। इसलिए, वे अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सके। वैसे, पुलिस अब तक किसी निष्‍कर्ष पर नहीं पहुंची है। दुर्गा ने जो कहानी बताई, उसपर यकीन किया जा रहा है। लेकिन, जांच की दिशा में बदलाव संभव है। पुलिस दुर्गा के बयान को प्रमाणित करने के लिए साक्ष्‍य इकट्ठा कर रही है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप