जागरण संवाददाता, बोधगया : चार दिवसीय अंतर विश्वविद्यालय खेलकूद स्पर्धा एकलव्य का मगध विश्वविद्यालय में गुरुवार से आगाज होगा।

मंच और मैदान की साज-सज्जा देर रात तक चलती रही। प्रतिभागियों का भी आना शुरू हो गया है। विवि परिसर में आ रहीं महिला प्रतिभागियों को कल्पना चावला छात्रावास व नवनिर्मित तृतीय व चतुर्थवर्गीय कर्मचारी आवास में ठहराया गया है। पुरुष प्रतिभागियों को बुद्धा इंस्टीच्यूट ऑफ टेक्नालॉजी परिसर में ठहराया गया है। विवि परिसर में जगह-जगह पर पूछताछ व सहायता काउंटर बनाए गए हैं, जहां शिक्षकों व कर्मियों को तैनात किया गया है। बुधवार को कुलपति, प्रतिकुलपति, अध्यक्ष छात्र कल्याण, कुलानुशासक, खेलकूद निदेशक, कुलसचिव, सीसीडीसी सहित अन्य समिति के समन्वयकों ने तैयारी का जायजा लिया।

---------------------

प्रवेश द्वार पर है

पंजीयन की सुविधा

दूसरे विश्वविद्यालयों से आने वाले प्रतिभागियों की सुविधा के लिए सुविधा के लिए प्रवेश द्वार के पास ही पंजीयन काउंटर बनाए गए हैं, जहां संबंधित विवि के कोच व अधिकारी प्रतिभागियों का पंजीयन कराकर आवासन स्थल की ओर जाएंगे।

--------------------

डेढ़ घंटे का होगा उद्घाटन सत्र

एकलव्य का उद्घाटन मविवि परिसर स्थित स्टेडियम में होगा, जहां भव्य मंच का निर्माण कराया गया है। उद्घाटन सत्र लगभग डेढ़ घंटे का होगा। हालांकि मुख्य अतिथि के आगमन के दो घंटे पहले सभी प्रतिभागियों को स्टेडियम परिसर में बुलाया गया है। प्रतिभागी मार्चपास्ट करेंगे, शपथ लेंगे और मशाल रैली निकाली जाएगी। उसके बाद प्रतियोगिताएं शुरू होंगी।

-------------------

कुलपति ने कहा, नए कीर्तिमान बनेंगे

कुलपति प्रो. कमर अहसन ने अपने संदेश में कहा कि खेलों का महाकुंभ एकलव्य भाईचारे और खेल भावना के प्रसार के निमित एक सद्प्रयास है। इस खेल उत्सव में बिहार के सभी विवि के खिलाड़ियों को अपने कौशल को प्रदर्शित करने का एक बेहतर अवसर प्राप्त होगा, जो सभी छात्रों के लिए एक प्रेरक प्रसंग बनेगा। एकलव्य में एथेलेटिक्स, फुटबॉल, वॉलीबाल, खो-खो, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, शतरंज तथा कबड्डी की प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। उन्होंने कहा कि एकलव्य 2018 में खिलाड़ियों द्वारा नए कीर्तिमानों का निर्माण होगा, जो पूरे राज्य व देश के खिलाड़ियों के लिए भी प्रेरणास्रोत बन सकेगा।

-------------------

कुलाधिपति के आगमन

को लेकर संशय

एकलव्य 2018 का उद्घाटन सूबे के राज्यपाल सह कुलाधिपति लालजी टंडन द्वारा प्रस्तावित था, लेकिन उनके आगमन को लेकर विवि के अधिकारियों के बीच उहापोह की स्थिति बनी थी। कोई खुलकर बताने से परहेज कर रहे थे। सूत्रों के अनुसार, उनका कार्यक्रम मंगलवार की देर शाम कतिपय कारणों से रद हो गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस