संवाद सहयोगी, नवादा : केजी रेलखंड पर लगातार दूसरे दिन बुधवार को ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। दोपहर तक गया से किउल की तरफ जाने वाली दो और किउल से गया जाने वाली दो ट्रेनों का परिचालन नहीं हुआ। नवादा रेलवे स्टेशन से मिली जानकारी के अनुसार, सुबह से सिर्फ हावड़ा से गया जाने वाली एक्सप्रेस और जमुई की तरफ जाने वाली एक मालगाड़ी का परिचालन हुआ। हावड़ा की ओर जाने वाली गया-हावड़ा एक्सप्रेस के परिचालन को लेकर रेल अधिकारी असमंजस की स्थिति में हैं। गया स्टेशन पर हो रहे बवाल के मद्देनजर ट्रेन के परिचालन को लेकर स्पष्ट नहीं कहा जा रहा है।

गया से किउल और किउल से गया की ट्रेनें कैंसिल 

नवादा स्टेशन मास्टर मुनेश्वर कुमार ने बताया कि 03356 गया से किउल व 03627 किउल से गया जाने वाली ट्रेन नहीं चली। इसके अलावा 03615-03616 जमालपुर पैसेंजर भी नहीं चली। हावड़ा से गया जाने वाली एक्सप्रेस सुबह 9:33 बजे नवादा आई और 9:35 बजे गया के लिए प्रस्थान की। इसके अलावा जमुई के लिए एक मालगाड़ी 10:26 में गुजरी है। इस रेलखंड पर कई मालगाड़ियों का परिचालन होता है।

दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी प्रतिनियुक्त

एक दिन पूर्व मंगलवार को नवादा रेलवे स्टेशन पर हुए बवाल के बाद जिला प्रशासन व रेल प्रशासन अलर्ट मोड में है। जिला पुलिस बल, जीआरपी व आरपीएफ जवानों को स्टेशन पर प्रतिनियुक्त किया गया है। स्टेशन के विभिन्न स्थानों के साथ ही रेलवे स्टेशन परिसर के मुख्य गेट पर, बस स्टैंड नंबर 3, आउटर सिग्नल के उत्तर सीमा, रेलवे स्टेशन नंबर, 3 बस स्टैंड के पहले मंदिर समेत कई स्थानों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इस बाबत डीएम यश पाल मीणा व एसपी डीएस सावलाराम ने संयुक्त आदेश जारी किया है। केजी रेलखंड पर नवादा जिले की सीमा में पड़ने वाले सभी रेलवे स्टेशनों को भी अलर्ट कर दिया गया है। साथ ही संबंधित क्षेत्र के बीडीओ, सीओ व थानाध्यक्षों को नजर बनाए रखने को कहा गया है।

चार नामजद और पांच सौ अज्ञात पर प्राथमिकी

नवादा रेलवे स्टेशन पर पथराव, आगजनी, तोड़फोड़ को लेकर रेल पुलिस की तरफ से प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। आवेदन को किउल थाना भेज दिया गया है। आरपीएफ इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह ने चार लोगों को नामजद और पांच सौ अज्ञात को आरोपित किया है। बता दें कि बवाल के दौरान 32 लोगों को हिरासत में लिया गया था। जिसके बाद 28 लोगों को बांड पर मुक्त कर दिया गया है। वहीं चार लोगों को जेल भेज दिया गया है। गौरतलब है कि रेलवे की परीक्षा में कथित धांधली को लेकर छात्रों ने रेलवे स्टेशन पर जमकर बवाल काटा था।

तीन करोड़ की संपत्ति का हुआ नुकसान

नवादा रेलवे स्टेशन पर बवाल में तीन करोड़ रुपये की संपत्ति को क्षति होने की बात कही जा रही है। बता दें कि डायनेमिक टेपरिंग मशीन व जेनरेटर में आग लगा दी गई थी। इसके अलावा मशीन की बैट्रियों की चोरी कर ली गई थी। तकबरीनब दो किलोमीटर तक पेंडूक्लिप को खोलकर फेंक दिया गया था। रेलवे फाटक और आउटर सिग्नल को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया था।

Edited By: Prashant Kumar Pandey