जागरण संवाददाता, गया। गया केंद्रीय कारा में बंद विचाराधीन बंदी  को अब मुक्ति मिलने लगी है। यहां से रिहा हुए बंदी खुले आसमान में सांस लेंगे। परिवार के साथ जीवनयापन करेंगे। रविवार को गया केंद्रीय कारा से सीतामढ़ी के चार विचाराधीन बंदी को रिहा किया गया। रिहा होने के बाद उनके चेहरे पर खुशी झलक रही थी।

अब यहां नहीं आएंगे। इन लोगों की रिहाई सर्वोच्च न्यायालय के निदेश के बाद छोटे मामले में बंद बंदी को रिहा किया गया है। इस तरह की रिहाई प्रत्येक दिन गया केंद्रीय कारा से हो रही है। कारा उपाधीक्षक रामानुज राम ने बताया कि पूर्व में सर्वोच्च न्यायालय के निदेश पर छोटे मामले में बंद विचाराधीन बंदी की 102 की सूची तैयार की गई थी। उस सूची को गया जिला विधिक सेवा प्राधिकार को उपलब्ध कराया गया था।

प्राधिकार ने 82 बंदियों को रिहा करने की स्वीकृति प्रदान की। उसके बाद न्यायालय के आदेश पर बारी-बारी से रिहा की जा रही है। उन्होंने बताया कि रविवार को सीतामढ़ी के बंदी को रिहा किया गया है। वे लोग मुजफ्फरपुर जेल (Muzaffarpur Jail) से बीते माह स्थानांतरण होकर गया केंद्रीय कारा आए थे। उन्हें न्यायालय के आदेश पर रिहा किया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक 70 बंदियों को बारी-बारी से रिहा किया गया है। 12 बंदी रिहा होने के लिए प्रतीक्षा में है।

Edited By: Prashant Kumar