गया । पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती शुक्रवार को उत्तर प्रदेश से सड़क मार्ग से गया पहुंचीं। यहां पहुंचने पर उन्होंने शक्तिपीठ मां मंगलागौरी मंदिर में पूजा-अर्चना की। अपने परिवार और देशवासियों के सुख-समृद्धि की कामना की। यहां से पूजा अर्चना के बाद जगत के पालनहार भगवान श्रीविष्णु के दरबार में हाजिरी लगाई। विष्णुपद के गर्भगृह में उन्होंने श्रीहरि के चरण को प्रणाम करते हुए तुलसी अर्चना की। उन्होंने पूरे देश में शांति व समृद्धि की कामना की। पूजा-अर्चना गया के तीर्थ पुरोहित ने कराई। बताया गया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री शनिवार को महालया तिथि को देवघाट पर अपने पितरों के मोक्ष के लिए पिंडदान करेंगी। उमा भारती ने कहा कि उनके परिजन पिछले 15 दिनों से गया में पितृपक्ष मेले में पिंडदान कर रहे हैं। उनसे मिलने के लिए वे उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से सड़क मार्ग से गयाजी पहुंची हैं। यहां पहुंचने के बाद अपने पुरोहित जो मध्य प्रदेश के सिक्कमगढ़ से मिलीं। उनसे गया श्राद्ध से संबंधित जानकारी ली। शनिवार को पिंडदान, तर्पण, जलाजंलि के बाद रात्रि में कोलकाता राजधानी से दिल्ली के रवाना हो जाएंगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप