गया, ऑनलाइन डेस्‍क। जनअधिकार पार्टी (Jan Adhikar Party) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष व पूर्व सांसद पप्‍पू यादव (Ex MP Pappu Yadav) ने अपने ऊपर दर्ज प्राथमिकी को लेकर कड़ा प्रतिकार किया है। उन्‍होंने कहा कि जब तक उनके शरीर में जान है वे ऐसा करते रहेंगे। जरूरत पड़ी तो फिर गया के एएनएमएमसीएच (ANMMCH)  जाएंगे। मालूम हो कि पहली मई को एनएमएमसीएच के कोविड वार्ड में जाने पर उनके खिलाफ एपिडेमिक डिजीज एक्‍ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।   

मूकदर्शक बन लोगों को मरने नहीं देंगे

अपने ट्विटर हैंडल पर पप्‍पू यादव ने लिखा है कि गया DM ने ANMCH अस्‍पताल में भर्ती मरीजों, उनके परिजनों की मदद के लिए वहां जाने के लिए मुझ पर मुकदमा किया है। मुझे फांसी दे दो! पर जब तक जान है उपचार, ऑक्‍सीजन, दवा, रेमडेसिविर के लिए किसी को मरने नहीं देंगे। सरकार की तरह मूकदर्शक बनकर घर बैठे नहीं रहेंगे। जरूरत होगी तो फिर गया जाएंगे। एक अलग Tweet में सांसद ने लिखा है कि  NMCH में पिछले दो घंटे से ऑक्सीजन नहीं है। बिहार के डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल का है यह हाल। लॉकडाउन में भी मुझे वहां जाना पड़ रहा है। फिर यह मुकदमा करेंगे! लेकिन क्या हम उससे डरेंगे या, लड़ेंगे? वहीं दूसरे Tweet में कहा है कि, गांव में कहावत है, अघोड़ी कै डरैलक थूक से। अरे हमें जान की परवाह ही नहीं है, मौत से हम डरते ही नहीं हैं। यह मुकदमा से डराने की सोच रहे हैं। आश्चर्य है।

यह भी पढ़ें- पूर्व सांसद पप्‍पू यादव पर प्राथमिकी, अनुमति के बिना मगध मेडिकल के कोविड वार्ड में घुसने का मामला

बिना अनुमति प्रवेश का आरोप 

गौरतलब है कि एएनएमएमसीएच के कोविड वार्ड का जायजा लेने पहुंचे पूर्व सांसद ने कहा कि वहां घोर कुव्‍यवस्‍था है। लोग मर रहे हैं। इसके लिए सरकार के साथ यहां के डॉक्‍टर भी दोषी हैं। वहीं इस मामले में बिना अनुमति कोविड वार्ड में घूमने को लेकर उनके खिलाफ मगध मेडिकल थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई। इस बाबत जाप प्रवक्‍ता ने कहा कि वाइ श्रेणी सुरक्षा प्राप्‍त व्‍यक्ति का जाना पूर्व से तय होता है, तब ऐसी प्राथमिकी सरकार के इशारे पर दर्ज कराई गई है। इसे स्‍वीकार नहीं किया जाएगा।       

यह भी पढ़ें- जाप प्रवक्‍ता ने कहा- बिना सूचना नहीं गए थे पप्‍पू यादव, दुर्भावना में सरकार ने दर्ज कराई प्राथमिकी

Edited By: Vyas Chandra