छकरबंधा में पांच किलो प्रेशर आइईडी व 250 डेटोनेटर बरामद

डुमरिया (गया)। छकरबंधा थाना क्षेत्र के बनारवा जंगल से एसएसबी, सीआरपीएफ और जिला पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में पांच किलो का प्रेशर आइईडी व 250 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर बरामद किया है। सीआरपीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि छकरबंधा थाना क्षेत्र के बनरवा जंगली क्षेत्र भाकपा माओवादियों के ठहराव का गढ़ माना जाता है। बुधवार को छकरबंधा थाना क्षेत्र के बनारवा जंगल में छापेमारी की गई। इस दौरान पांच किलो का एक प्रेशर आइईडी व 250 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर बरामद किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रेशर आइईडी को जंगल में ही डिफ्यूज किया गया है। बनारवा जंगल में पहाड़ी पर गुफा के अंदर कुछ सामान रखे जाने की सूचना पर जांच की गई। सर्च अभियान में झाड़ियों से प्रेशर आइईडी बम मिला। एक अन्य गुफा में 250 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर बरामद हुए। इलेक्ट्रिक डेटोनेटर बम प्लांट करने और उसे उड़ाने के क्रम में काम आता है। इसका इस्तेमाल नक्सली करते हैं। इससे सुरक्षा बल को नुकसान पहुंचाते हैं। डुमरिया क्षेत्र के नागोवार जंगल में मंगलवार को सीआरपीएफ व पुलिस के जवानों ने आइईडी बरामद किया था। उसे डिफ्यूज कर दिया था। फायरिंग के मामले में दोनों ओर से दर्ज हुई प्राथमिकी गया। मुफस्सिल थाना के नारायण नगर मोहल्ले में फायरिंग के मामले में दूसरे दिन बुधवार को थाना में एक दूसरे पर प्राथमिकी कराई है। पुलिस आरोपित को गिरफ्तारी के लिए छापामारी शुरू कर दी। डीएसपी घुरन मंडल ने बताया थाना में दोनों और से प्राथमिकी कराई गई है। जिसमें कई लोग नामजद और कई लोग को अज्ञात आरोपित बनाया गया हैं। मंगलवार को आपसी वर्चस्व को लेकर दो पक्षों के बीच नोक-झोक होते-होते मारपीट होने लगी थी। देखते-देखते मामला इतना बढ़ गया कि दोनों ओर से ईंट-पत्थर चलने लगा। उसके बाद फायरिंग भी होने लगी। गोली लगने से 26 वर्षीय राजीव रंजन घायल हो गया। इनका इलाज निजी क्लिनिक में चल रहा है। घटना के दूसरे दिन भी नारायण नगर मोहल्ले के लोग सहमे हुए हैं।

Edited By: Jagran