गया। सागरपुर मंदिर के पास मोहनपुर प्रखंड के टेसवार, मटिहानी, डेमा, लाडू पंचायत के दर्जनों गावों के किसान मंगलवार को दैनिक जागरण द्वारा आयोजित किसान चौपाल में उत्साह के साथ पहुंचे और अपनी समस्याएं व सुझाव रखे।

प्रखंड प्रमुख संजय कुमार अकेला, समग्र सेवा केंद्र के सचिव छेदी प्रसाद मंडल, प्रखंड कृषि पदाधिकारी सच्चितानंद यादव, मुखिया तुला प्रसाद, पंचायत समिति सदस्य विश्वास कुमार सिंह ने दीप प्रच्जवलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

किसानों ने कहा कि मजदूरों की मजदूरी बढ़ गई है, पर किसानों की कड़ी मेहनत और पूंजी दांव पर है। सिस्टम में बदलाव की जरूरत है। किसानों को उनकी फसल की कीमत नहीं मिल रही है। बाजार में उपज की कीमत नहीं मिलने से पूंजी भी नहीं लौट पाती है। यही वजह है कि किसान गरीब होते जा रहे हैं। किसानों ने कहा कि सरकार हर बीज पर अनुदान देती है, पर यहां रबी फसल में दो तरह के बीज दिए जा रहे हैं। लेकिन एक ही का बिल काटकर दिया जा रहा है। 18 पंचायतों के लिए सिर्फ एक दुकान

किसानों ने यह भी कहा कि प्रखंड में 18 पंचायत हैं, पर सरकारी दर पर बीज व दवा के लिए सिर्फ एक दुकान है। इससे किसानों को परेशानी हो रही है। उन्हें लाभ नहीं मिल रहा है।

--------------------

जरूरी है ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

प्रखंड कृषि पदाधिकारी सच्चितानंद यादव ने दो तरह के बीज लेने पर एक ही रसीद मिलने की बात पर संज्ञान लेते हुए इसकी जांच की बात कही। उन्होंने किसानों से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा लेने को कहा, क्योंकि इसके बिना लाभ नहीं मिल पाएगा। उन्होंने कम संख्या में रजिस्ट्रेशन पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि हर किसान अपने घर में कम-से-कम एक दुधारु पशु जरूर रखें। इससे जैविक खेती में भी लाभ होगा।

---------------------

जागरूक रहकर ही आगे बढ़ेंगे किसान

प्रखंड प्रमुख संजय कुमार ने कहा कि यदि बीज के साथ दवा का किट नहीं मिला है तो इसकी शिकायत करें। किसान जब तक जागरूक नहीं होंगे, सुधार संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि दैनिक जागरण ने गांवों में किसान चौपाल लगाकर उपयुक्त मंच दिया है, किसानों को सम्मानित किया जा रहा है। इसके अच्छे परिणाम आएंगे।

--------------------

पारंपरिक जलस्रोत को बचाएं

समग्र सेवा केंद्र के सचिव छेदी प्रसाद मंडल ने कहा कि दैनिक जागरण मेहनतकश किसानों की बात हमेशा उठाता रहा है। गांव-गली से खेत-खलिहान तक की बातें प्रशासन और सरकार के समक्ष रख रहा है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि लोग गांवों में सिंचाई के पारंपरिक स्रोत नदी, तालाब-पोखर आदि को बचाएं। इसी से समस्या का समाधान होगा।

------------------

इनकी भी रही सहभागिता

इस मौके पर बिरेंद्र कुमार, बिनोद कुमार वर्मा, जानकी यादव, लखन डालमिया, राजू रंजन वर्मा, सरजू नदंन प्रसाद, शिक्षक अनिल कुमार, संदीप कुमार समेत काफी संख्या में मोहनपुर प्रखंड के अलावा आसपास के किसान व गण्यमान्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप