संवाद सूत्र कोच : जलस्रोतों में डूबकर मरने का सिलसिला रुक नहीं रहा है। मंगलवार को गौहरपुर पंचायत के ग्राम सिन्दुआरी के 55 वर्षीय राम बिलास यादव की सोन नहर में डूबने से मौत हो गई। वह भैंस धोने के लिए नहर में गया था कि अचानक गहरे गड्ढे में पैर चला गया और जान चली गई।

जानकारी के अनुसार, राम बिलास यादव पशुओं को लेकर बधार में चराने के लिए गया था। वहां भैंस को धोने के लिए सोन नहर में जैसे ही घुसा कि अचानक पैर गहरे गड्ढे में चला गया। इसी बीच भैंस पानी से निकलकर भाग गई। उसे तैरने नहीं आता था और वह डूब गया। काफी देर घर नहीं लौटने पर उसकी खोजबीन शुरू हुई। बाद लोगों ने उसे नहर से बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसकी जान जा चुकी थी। अस्पताल ले गए तो चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मुखिया शिव कुमार चौहान ने कहा कि अपने निजी मद से 1500 रुपये मृतक के आश्रित को दिया गया है।

विदित हो कि सोमवार को टिकारी के निमसर गांव में डूबने से एक बच्चे की मौत हो गई थी। वहीं, विगत सप्ताह ग्राम सियाडीह में एक महिला अपने घर से कचरा फेंकने के लिए निकली थी तो ठेकेदारों द्वारा सड़क किनारे खोदे गए गड्ढे में गिर गई और उसकी मौत हो गई थी।

Posted By: Jagran