जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : ठंड के मौसम में सर्दी-खांसी व बुखार को हलके में न लें। गले में अगर खराश हो तो कोरोना जांच अवश्य कराएं। ठंड के इस मौसम में गर्म पानी पीने से सेहत ठीक रहेगा। बढ़ते कोरोना के प्रकोप को देखते हुए सर्दी, खांसी एवं बुखार होने पर जांच अवश्य कराएं। चिकित्सक डा. वेदप्रकाश रंजन ने बताया कि ये लक्षण तीन दिनों तक रहते हैं तो तत्काल खुद को आइसोलेट या सेल्फ क्वारंटाइन कर लें। घर में क्वारंटाइन होने के बाद कोरोना जांच अवश्य कराएं। वर्तमान माहौल में दो गज दूरी के साथ मास्क जरूरी है। 

इन लक्षणों को न करें नजर अंदाज- अगर सर्दी, खांसी, गले में खराश, बुखार, सांस लेने में दिक्कत, हरारत और सिर दर्द है तो ये कोरोना के लक्षण हो सकते हैं। ऐसे लक्षण दिखते ही शीघ्र चिकित्सक से मिले और नजदीकी के स्वास्थ्य केंद्र पर कोरोना जांच अवश्य कराएं।

* ओमिक्रोन से संक्रमित होने पर कब्ज, सोते वक्त पसीना आना, आंखों में सूजन, स्वाद ना आना, खुजली जैसी समस्या हो सकती है। इस तरह के लक्षण दिखने पर त्वरित कोविड जांच कराएं।

 * अगर आपके शरीर के किसी हिस्से पर लाल चकत्ते दिखते हैं तो ये ओमिक्रोन से जुड़े हैं। ऐसा दिखाई देने पर इसे नजरअंदाज न करें। चिकित्सक के संपर्क के साथ जांच अवश्य कराएं। हर सर्दी-खांसी, बुखार कोरोना है ?

हर सर्दी-खांसी एवं बुखार कोरोना के सवाल पर डा. वेदप्रकाश रंजन ने कहा कि अवधि लंबी खींचे तो खतरनाक है। खुद निर्णय न लें। चिकित्सक से संपर्क करें। कोरोना जांच के साथ आक्सीजन लेवल जांचते रहें। सांस फूलने लगे व आक्सीजन कम हो तो तत्काल चिकित्सक से परामर्श लें। हो सकता है कि दवा खाने की जरूरत हो।

Edited By: Prashant Kumar Pandey