संवाद सूत्र, करगहर (रोहतास)। प्रखंड क्षेत्र के सिवन ग्राम निवासी प्रगतिशील युवा किसान धर्मेंद्र कुमार उपाध्याय का एग्री-फूड बिजनेस इन्क्यूबेशन सेंटर (Agri Food Business Incubation Center) आइआइटी खड़गपुर (IIT Kharagpur) में  चयन किया गया है। धर्मेंद्र ने राष्‍ट्रीय स्‍तर पर आयोजित प्रतियोगिता में सफल होने के बाद यह उपलब्धि हासिल की है। वे किसानों के लिए उत्तम कार्य करने एवं नए नए कृषि तकनीकों एवं उद्यमिता का दो महीने तक प्रशिक्षण लेंगे। इसके बाद योजना को लागू करने हेतु आवश्यक लागत राशि भी केंद्र के द्वारा मुहैया कराई जाएगी । 

उच्‍च शिक्षा हासिल करने के बाद धर्मेंद्र उतरे खेत में

करगहर प्रखण्ड के सिवन गांव के एक मध्यमवर्गीय परिवार से तालुक रखने वाले धर्मेंद्र कृषि के क्षेत्र में अब तक कई सम्मान प्राप्त कर चुके हैं। राजकीय मध्य विद्यालय सिवन व उच्च श्री राम नरेश चौधरी उच्च विद्यालय डिभिया से इंटर तक की शिक्षा के बाद  काशी विद्यापीठ व बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से उच्च शिक्षा ग्रहण की। इसके बाद मास्टर ऑफ सोशल वर्क की पढ़ाई महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा से पूरी की। कुछ वर्ष नौकरी करने के बाद नौकरी छोड़कर अपने गांव आ गए। यहां खेती करना शुरू किया।

जैविक व औषधीय पौधे की खेती के लिए कर रहे प्रेरित

उत्तम व जैविक खेती के लिए किसानों को प्रेरित करने लगे। मैनेज हैदराबाद से इन्होंने एग्री क्लीनिक एवं एग्री बिजनेस का भी प्रशिक्षण प्राप्त किया है । अब अपने गांव आकर किसानों के बीच जैविक खेती एवं औषधीय खेती से किसानों के आय में बढ़ोतरी का प्रयास कर रहे हैं । धर्मेंद्र जिले के ऐसे पहले किसान है जो नए उन्नत खेती के तरीकों को आम किसानो के बीच लाने का काम कर रहे हैं।राष्ट्रीय कृषि विस्तार योजना-रफ्तार, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा चलाए जा रहे एग्री-फूड बिजनेस इन्क्यूबेशन सेंटर में आईआईटी खड़गपुर के लिए चयनित होने पर धर्मेंद्र काफी उत्साहित हैं ।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप