मोहनियां (भभुआ), संवाद सहयोगी।  चोरी से बिजली का उपयोग करने वालों पर विभाग ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ऐसे लोगों के विरुद्ध विद्युत विभाग सख्त हो गया है। विद्युत आपूर्ति अवर प्रमंडल मोहनियां से सहायक अभियंता नवीन कुमार के नेतृत्व में मंगलवार को गुप्त सूचना के आधार पर हुई छापेमारी में चार उपभोक्ताओं को विद्युत चोरी करते पकड़ा गया। उनके खिलाफ मोहनियां थाना में प्राथमिकी दर्ज कराते हुए 813832 रुपए जुर्माना लगाया गया है।

इस संबंध में एसडीओ ने बताया कि मंगलवार को विद्युत चोरी के विरुद्ध एक छापामारी दल का गठन किया गया था। जिसमें उनके अलावा विद्युत आपूर्ति प्रशाखा चौरसिया के कनीय अभियंता रौनक कुमार कश्यप, मोहनियां के कनीय अभियंता अजय कुमार सिंह, मानव बल चौरसिया निरंजन सिंह और राकेश शर्मा शामिल थे। छापामारी दल मोहनियां थाना क्षेत्र के मझाड़ी गांव में विरोधी सिंह के औद्योगिक परिसर में पहुंचा तो पाया कि विद्युत ऊर्जा मीटर को बाईपास कर बिजली का अवैध उपभोग किया जा रहा है। इससे साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड को 272527 रुपए क्षति का आकलन किया गया।

छापामारी दल ने विरोधी सिंहके पुत्र अनिल कुमार के व्यवसायिक परिसर में भी एलटी लाइन में टोंका फंसाकर अवैध रूप से बिजली का उपभोग किया जा रहा था। छापामारी दल द्वारा पूछताछ में उन्होंने विद्युत कनेक्शन का कोई कागजात नहीं दिखाया। अनिल कुमार पर 14181 रुपए जुर्माना लगाया गया। इसके बाद कठेज  गांव में नारद चौधरी के औद्योगिक परिसर में पहुंचा तो वहां भी विद्युत चोरी का मामला प्रकाश में आया। नारद चौधरी ने बिना विद्युत कनेक्शन के एलटी लाइन फंसा कर बिजली की चोरी कर रहे थे। इनके ऊपर 233322 रुपए का जुर्माना लगाया गया। कठेज गांव के ही मोहन साह के औद्योगिक परिसर में विद्युत चोरी पकड़ी गई। उनके द्वारा ऊर्जा मीटर को बाईपास कर बिजली का अवैध उपयोग किया जा रहा था। इनके ऊपर 293802 रुपए जुर्माना लगाया गया। विद्युत चोरी करने वालों का सामान जब्त कर थाना को सौंपा गया। सभी के विरुद्ध मोहनियां थाना में एफआईआर दर्ज कराया गया है। विद्युत विभाग की इस कार्रवाई से बिजली चोरी करने वालों में हड़कंप मच गया है।

 

Edited By: Sumita Jaiswal