जागरण संवाददाता, गया : दैनिक जागरण कार्यालय में बुधवार को जागरण कर्मयोगी प्रशस्ति सम्मान के तहत कर्मयोगियों की छठी से दसवीं तक की होनहार बेटियों को प्रशस्ति पत्र व नकद राशि देकर सम्मानित किया गया।

यूनिट मैनेजर कुशाग्र सिंह ने कहा कि दैनिक जागरण कर्मयोगियों के अनवरत योगदान की सराहना करता है और उन्हें सम्मान देने का यह छोटा सा प्रयास है। यह प्रयास पारिवारिक रिश्ते को और मजबूत करेगा। समाचार संपादक अश्विनी ने कहा कि बेटियों ने जो सपने पाले हैं, यही सपने इस समाज और देश को आगे ले जाएंगे। जागरण उन्हें इसकी शुभकामना देता है। इस मौके पर दैनिक जागरण के नवादा एजेंट एसबी सिंह के प्रतिनिधि अमित सिंह, डेहरी के शिवप्रसन्न सिंह एवं भभुआ के ओमप्रकाश पांडेय को शॉल एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर कर्मयोगी सिद्धेश्वर गिरि, कामेश्वर प्रसाद, विमलेश, अशोक कुमार आदि मौजूद थे।

-----------------------

सम्मानित बच्चों ने अपने-अपने भविष्य में आगे बढ़ने का रखें कई बड़े-बड़े सपने सजाए

मैं आइडियल हायर सेकेंड्री स्कूल में आठवीं की छात्रा हूं। जागरण के इस सम्मान से मनोबल बढ़ा है। भविष्य में कुछ कर गुजरने के लिए अभी से तैयारी कर रही हूं। हमें दुभाषिए के रूप में कॅरियर बनाना है। आगे चलकर फ्रेंच पढ़ूंगी। अपने माता-पिता का नाम रौशन करना है।

अंकिता कुमारी

पिता-अजय प्रसाद

न्यू कॉलोनी भलुआही खरखुरा, डेल्हा गया

-------------------

मैं मॉडर्न इंग्लिश स्कूल में सातवीं में पढ़ रही हूं। यह सम्मान पाकर बहुत अच्छा लग रहा है। बैंकिंग के क्षेत्र में जाकर अपने-माता पिता का नाम रौशन करूंगी। मैट्रिक में अच्छे प्रतिशत से पास होने के लिए दिन-रात पढ़ाई में लगी हुई हूं।

रिया कुमारी

पिता-दिनेश कुमार

धनिया बगिचा डेल्हा,गया

--------------------

अभी नौवीं कक्षा में पढ़ रही हूं। मुझे आज जागरण ने पुरस्कार दिया, इससे काफी उत्साहित हूं। मेरा सपना डॉक्टर बनने का है। पढ़ाई पर पूरा ध्यान है। विशेष रूप से साइंस पेपर पर ज्यादा ध्यान है।

सीमा कुमारी

पिता-संजय पांडेय

माड़नपुर,गया

-----------------

अभी आठवीं में पढ़ रही हूं। सम्मान मिलने से काफी प्रसन्न हूं। मैं आगे चलकर फै शन डिजाइनर बनना चाहती हूं। खासकर महिलाएं आजकल इन क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं। मेरा लक्ष्य आगे चलकर अच्छे इंस्टीच्यूट से इसका कोर्स करना है।

मोनी कुमारी

पिता- श्याम प्रसाद

तेलबिगहा पिपरपाती, गया

--------------------

अभी नौवीं में पढ़ रही हूं। मुझे सम्मान मिला, इससे मनोबल बढ़ा है। आगे चलकर शिक्षण के क्षेत्र में कॅरियर बनाना है। मैं शिक्षिका बनकर समाज में शिक्षा की रोशनी फैलाना चाहती हूं। इसके लिए अभी से तैयारी कर रही हूं।

आफिया इबरार

पिता-इबरारउद्दीन

मुरारपुर, गया

-----------------

अनुग्रह कन्या विद्यालय में नौवीं में पढ़ रही हूं। मैंने बैंकिंग के क्षेत्र में कॅरियर बनाने की सोच रखी है। इसके लिए अभी से तैयारी कर रही हूं। पढ़ाई पर पूरा ध्यान रहता है। इस सम्मान ने मेरा हौसला बढ़ाया है। आगे भी अच्छा करूंगी।

अंशु कुमारी

पिता-अनिल राम

भलुआही खरखुरा, गया

--------------------

आठवीं में पढ़ रही हूं। मेरा सपना डॉक्टर बनने का है। जागरण की ओर से सम्मान एक बड़ी उपलब्धि है। मुझे अपने घर-परिवार, समाज की सेवा करनी है। अपने कॅरियर को मुकाम देने की तैयारी अभी से है।

रिया कुमारी

पिता- अनिल प्रसाद

झालगंज ठाकुरबाड़ी, नई गोदाम, गया

------------------

हंसराज पब्लिक स्कूल में 11 वीं में पढ़ रही हूं। दसवीं की परीक्षा अच्छे अंकों से पास की है। इससे हौसला बढ़ा। आज सम्मान पाकर हौसला और बढ़ा है। मेरा लक्ष्य डॉक्टर बनने का है। इसे लेकर आगे बढ़ रही हूं।

संजना कुमारी

पिता-नवल कुमार

छोटकी डेल्हा, गया

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस