जागरण संवाददाता, गया। सीआरपीएफ 159 बटालियन गया जिले के अति संवेदनशील और सुदूर इलाके में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है ताकि नक्सल विरोधी गतिविधियों को समाप्‍त किया जा सके। इसी क्रम में जिले के नक्सल क्षेत्र में स्वरोजगार केंद्र की स्थापना की गई है। इसमें जिला प्रशासन और स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद से कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है। प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस योजना के तहत समाज की मुख्यधारा से भटके युवाओं को रोजगार से जोड़ना है। उन्‍हें सामान्‍य जिंदगी व्‍यतित करने के लिए प्रेरित करना है।

छकरबंधा में शुरू किया गया कार्यक्रम

इसी कड़ी में पुलिस उपनिरीक्षक (DIG) पटना रेंज संजय कुमार के मार्गदर्शन में सीआरपीएफ 159 कमांडेंट निशित कुमार के नेतृत्व में गया जिले के छकरबंधा थाना के नक्सल क्षेत्र में स्वरोजगार का कार्य शुरू किया गया है। इस क्रम में शुक्रवार को गरीबों के बीच कंबल, शाल, रेडियो आदि का वितरण किया गया। साथ ही खाना बनाने की थाली एवं पत्‍तल, नौजवानों के लिए खेल सामग्री उपलब्ध कराई गई।

नक्‍सल गतिविधियों की वजह से क्षेत्र रहा उपेक्षित

कमांडेंट ने कहा कि सुरक्षा बल और आम जनता के बीच के फासले को कम कर मधुर संबंध विकसित करना है। ग्रामीणों के बीच समन्वय स्थापित कर विकास में उनकी भागीदारी को सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि नक्सल समस्या के कारण वर्षों से यह क्षेत्र उपेक्षित रहा है। नक्सलियों के खौफ और दशक के कारण क्षेत्र सरकार के विकास से स्थानीय लोगों में भय एवं डर का माहौल था। परंतु सीआरपीएफ कैंप लगने के बाद लोग दहशत मुक्‍त हुए हैं। साथ ही क्षेत्र में विकास संबंधी कार्य में तेजी आई है। अब युवाओं व स्‍थानीय लोगों को हुनरमंद बनाकर स्‍वरोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। कार्यक्रम में स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के साथ काफी संख्या में ग्रामीणों ने भी भाग लिया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप