गया। सेना की बहाली को लेकर केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में और उसे वापस लेने की मांग को लेकर सोमवार को शहर के राजेंद्र आश्रम स्थित कांग्रेस कार्यालय में नेताओं ने सत्याग्रह आंदोलन किया। आंदोलन की अध्यक्षता कांग्रेस नेता व डिप्टी मेयर अखौरी ओंकार नाथ उर्फ मोहन श्रीवास्तव ने की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के अग्निपथ इस योजना से युवाओं में काफी आक्रोश है।

कांग्रेस पार्टी भी इनके आक्रोश को लेकर सत्याग्रह आंदोलन पूरे विधानसभा में आयोजित कर सरकार के विरोध धरना दे रही है, ताकि सरकार का यह स्कीम वापस हो। उन्होंने कहा कि हर नौजवान चार साल के बाद हर समय चिता होगी कि आगे हमारा भविष्य क्या होगा। वह चार साल बाद जब युवा सेना से निकाले जाएंगे, तब हम क्या करेंगे। पढ़ाई लिखाई की उम्र में सेना भर्ती होने वाले नौजवान 22 से 25 साल की उम्र में फिर बेरोजगार हो जाना भविष्य के लिए यह एक चिता का विषय है। इस मौके पर मेयर वीरेंद्र कुमार उर्फ गणेश पासवान, वरीय नेता युगल किशोर सिंह, धर्मेंद्र कुमार निराला, बाबू लाल सिंह, मो. खैरुद्दीन, मदीना खातून, प्रदीप शर्मा, विद्या शर्मा, बबलू शर्मा, बबलू सहित अन्य मौजूद थे। अग्निवीर योजना युवाओं के लिए छलावा

गया। अग्निवीर योजना के विरोध में सोमवार को प्रखंड मुख्यालय मानपुर के समीप कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सत्याग्रह आंदोलन शुरू की। मुख्य अतिथि पार्टी नेता डा. शशि शेखर सिंह ने कहा कि अग्निवीर योजना युवाओं के लिए छलावा है। इससे युवाओं को कोई विशेष फायदा होने वाला नहीं है। इस योजना के तहत युवाओं को सेना में चार साल की नौकरी दी जाएगी। इसके बाद तो उन्हें दरबानी के काम करने पड़ेंगे। ऐसी नौकरी देकर युवाओं को केंद्र सरकार ठगने का काम कर रही है। अब युवाओं को एकजुट होकर इस योजना के विरोध करने की जरूरत है। अगर युवाओं को प्रत्येक साल नौकरी मिलती रहते तो आज देश में बेरोजगारों का फौज तैयार नहीं रहता। सत्याग्रह आंदोलन में कांग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष रंजीत सिंह, अजय सिंह, उमेश सिंह, मो. ग़ालिब, मो. जफर, कांग्रेस महिला प्रकोष्ठ के सोनी कुमारी, मनीषा कुमारी आदि ने अपने-अपने विचार रखे।

Edited By: Jagran