संवाद सूत्र, मदनपुर औरंगाबाद : सलैया थाना क्षेत्र के सलैया गांव के पास ईंट भट्ठा पर शुक्रवार की रात करीब 10 बजे भाकपा माओवादी नक्सलियों के द्वारा दहशत फैलाने के लिए फायरिंग की कई। भट्ठा पर पहुंचे नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। फायरिंग की आवाज सुनकर भट्ठा पर रहे सभी मजदूर अपने अपने झोपड़ियों पर दुबके रहे और कांपते रहे। हालांकि नक्सलियों की गोली से किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। फायरिंग की आवास पास में स्थित थाना की पुलिस को भी सुनाई दे रही थी। भट्ठा मालिक देवेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि फायरिंग की सूचना भट्ठा पर रहे मुंशी पंकज कुमार गुप्ता के द्वारा दी गई। फिर हमें भी फायरिंग की आवाज सुनाई दी। 

आजतक लेवी की मांग किसी के द्वारा नहीं की गई 
हमनें थानाध्यक्ष को सूचना दी तो वे बोले कि उन्हें भी फायरिंग की आवाज सुनाई दे रही है। फायरिंग जब बंद हो गई तब हम और थाना की पुलिस भट्ठा पर पहुंचे। तबतक फायरिंग करने वाले भाग निकले थे। बताया कि सुबह में एक भाकपा माओवादी का पोस्टर बरामद हुआ है। पर बरामद पोस्टर नक्सली संगठन का है या किसी बदमाशों के द्वारा लिखा गया है यह तो पुलिस की जांच में पता चलेगा। बताया कि घटना या तो मेरी हत्या करने का प्रयास से किया गया है या इलाके में दबदबा बनाने के लिए यह भी जांच से पता चलेगा। आजतक लेवी की मांग किसी के द्वारा नहीं की गई है। 
नक्सलियों पर आरोप थोपने की कोशिश
इस घटना के पहले वर्ष 2017 में भी यहां फायरिंग की गई थी। जिसकी सूचना थाना से लेकर एसपी और आइजी तक को दिए थे। 20-25 दिन पहले भी भट्ठा के आसपास नक्सली के नाम पर पर्चा चिपकाया गया था। बताया कि यह भी योजना हो सकती है कि मेरी हत्या कर नक्सली को बदनाम किया जाए। उधर एसपी कांतेश कुमार मिश्र ने बताया कि यह घटना नक्सली नहीं बल्कि किसी शरारती बदमाशों के द्वारा की गई है। पर्चा भी नक्सली संगठन का नहीं प्रतीत होता है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Edited By: Prashant Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट