जागरण संवाददाता, औरंगाबाद। कोरोना संक्रमितों की संख्‍या काफी कम हो गई है। लेकिन बीच-बीच में संक्रमितों की संख्‍या बढ़ रही है। चिंता की बात यह है कि शहर के बाद अब गांवों में कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। गुरुवार को जिले में 2253 लोगों की  सैंपल जांच में 10 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस प्रकार पूरे जिले का आंकड़ा अभी तक 5233 हजार तक पहुंच गया है। हालांकि राहत की बात यह है कि इमें से 5139 इस बीमारी को मात देकर स्‍वस्‍थ हो चुके हैं।

जिला निबंधन कार्यालय का कर्मी मिला संक्रमित

गुरुवार को आई रिपोर्ट की मानें तो कोरोना से जिला निबंधन कार्यालय का एक कर्मी भी संक्रमित मिला है। अब यहां पदस्थापित सभी कर्मियों की कोरोना जांच की जाएगी। डीपीएम डॉ. कुमार मनोज ने बताया कि भल्लूखाप, जर्माखाप, ओबरा प्रखंड के सरसौली, देव के एरकी, गोह के सलेमपुर, मदनपुर के कोल्हुआ एवं रफीगंज के बाबुगंज में कोरोना के नए संक्रमित मिले हैं। इन सभी जगहों पर अन्‍य लोगों की भी जांच कराई जाएगी।डीपीएम ने बताया कि अब तक 4,58,067 सैंपल की जांच हुई है। इनमें 5233 हजार संक्रमित पाए गए जिनमें से 5139 स्वस्थ हो गए हैं। एक्टिव केस की संख्या 92 रह गई है। कोरोना से जिले में 25 की मौत हो चुकी है। बभंडीह स्थित आइसोलेशन वार्ड में एक भी संक्रमित नहीं है। कोरोना संक्रमित सभी लोग अपने घर में क्वारंटाइन हैं।

सावधानी नहीं छोड़ें, अभी टला नहीं है खतरा

डीपीएम ने बताया कि ठंड के मौसम में संक्रमण बढ़ने का खतरा अधिक रहता है। लोगों को कोरोना के प्रति सजग रहना होगा। उन्होंने बताया कि घर से जो लोग भी बाहर निकलेें मुंह पर मास्क अवश्य लगाएं। बगैर मास्क के बाहर न जाएं। कोरोना का फैलाव गांवों में होना चिंता का विषय है। कारण, ग्रामीण क्षेत्रों में अब भी लोग गंभीर नहीं हैं। न दो गज दूरी का ख्याल रखते हैं और न हीं मुंह पर मास्क लगाते हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप