जागरण संवाददाता, औरंगाबाद। कड़ाके की ठंड के साथ कोरोना का कहर जारी है। संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। प्रतिदिन संक्रमित मिल रहे हैं। शुक्रवार को 15 स्वास्थ्य केंद्रों पर 2890 सैंपल की जांच हुई। एसपी की पत्नी समेत 25 का रिपोर्ट संक्रमित मिला है। आरटीपीसीआर लैब में 1800 सैंपल की जांच हुई जिसमें 18 का रिपोर्ट संक्रमित मिला है। एंटिजन किट से जांच में सात की पहचान हुई है। जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम डा. कुमार मनोज ने बताया कि पहले से संक्रमित चल रहे 64 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। जिले में अब कुल 252 केस एक्टिव है। स्वास्थ्य विभाग तत्परता के साथ कार्य कर रही है। शारीरिक दूरी का पालन करें। मास्क का नियमित उपयोग करें। इस महामारी को हराने में लोग विभाग को सहयोग करें। बताया कि हमीद नगर, चतरा, डोमन बिगहा, क्लब रोड, पुलिस लाइन, हसौली, विश्रामपुर, बुली, अमर बिगहा, चांदी, लट्ठा, बहुआरा, रसलपुर, शेखपुरा, सिंधिया गांव में संक्रमित मिला है। दो गज दूरी के साथ मास्क जरूरी है। घर से बाहर निकलते समय मास्क अवश्य लगाएं।

जानकारी के अनुसार, आइपीएस अधिकारी कांतेश मिश्र औरंगाबाद एसपी का प्रभार लेने से पहले पटना के ग्रामीण एसपी के पद पर काबिज थे। कोरोना की पहली लहर के दौरान श्री मिश्र और उनकी धर्मपत्‍नी कोरोना संक्रमित हो गई थीं। हालांकि, इस संबंध में कोई अधिकारिक जानकारी नहीं दी गई। गौरतलब है कि दूसरी लहर के दौरान पुलिस अधिकारियों ने आम जनता दरबार लगाना लगभग बंद कर दिया था। फरियादियों को कार्यालय में आने की मनाही थी। अति‍आवश्‍यक मसलों को फोन पर ही निपटाया जा रहा था। तब भी फील्‍ड ड्यूटी के कारण अधिकारी से लेकर जवान तक कोरोना संक्रमित हो गए थे। इस दौरान महकमे में एक आइजी अफसर को भी खो दिया था। दूसरे जिलों से भी पुलिसकर्मियों की मृत्‍यु की खबरें सामने आई थीं। हालांकि, ज्‍यादातर पुलिसकर्मियों ने कोरोना की जंग जीत ली थी।

Edited By: Prashant Kumar