संवाद सूत्र, मेसकौर ( नवादा)। सोमवार देर रात थाना क्षेत्र के गंभीरा में जमकर बवाल हुआ। सांप काटने (Snake Bite) से बच्चे की मौत को जादू टोना बताकर तीन महिलाओं को प्रताड़ित (Physical assault) करने की खबर के बाद पहुंची पुलिस पर पथराव किया गया। जिसमें एक महिला समेत दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। बाद में कई थानों की पुलिस गांव पहुंची और स्थिति को काबू में किया। दो महिला समेत 16 लोगों  को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है।

बताया जाता है कि अरुण राजवंशी के 5 साल के पुत्र की मृत्यु हुई थी। अंधविश्वास के चक्कर में एवं भगत की बातों में आकर प्रखंड क्षेत्र के मिर्जापुर पंचायत के हरला गांव से 3-4 महिला को बुलाकर अमानवीय व्यवहार किया। इस व्यवहार से तंग आकर एक महिला ने मेसकौर थाने को सूचना दी।

सूचना पर एएसआइ (Assistant Sub-Inspector) जितेंद्र कुमार दल बल के साथ गंभीरा गांव पहुंचाकर भगत के चंगुल से महिलाओं को छुड़ाने की कोशिश करने लगे। इससे खफा होकर मृतक के परिजन ने पुलिस पर हमला कर दिया।जिसमें एएसआइ और साथ रही महिला पुलिसकर्मी प्रियंका कुमारी घायल हो गई।

क्या है पूरा मामला

रविवार अरुण राजवंशी के 5 वर्षीय पुत्र अमित कुमार की मौत ननिहाल लोधवे मे सांप काटने से हो गई। इसकी सूचना पाकर मृतक के परिजनों ने लोधवे में ही बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया। अंतिम संस्कार करने के उपरांत अंधविश्वास के चक्कर में पड़कर गांव के ही ओझा गुनी( भगत) के शरण ले लिया।

भगत ने बताया कि बच्चे की मृत्यु सांप काटने से नहीं बल्कि तीन चार महिला ने मिलकर जादू टोना के माध्यम से बच्चों को मारा है। भगत कि इन बातों में आकर अरुण राजवंशी मिर्जापुर पंचायत के हरला गांव की चार महिलाओं को भगत के सामने लाया। भगत गंभीरा हैदरचक निवासी बिंदेश्वर प्रसाद, चंद्रदेव निवासी भगत राजकुमार रविदास उर्फ भोजपुरिया, गंभीरा निवासी भगत अमेरिका यादव ने महिलाओं पर बच्चे को जादू टोना से मारने का आरोप लगाकर अमानवीय व्यवहार करने लगा।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष

मेसकौर थाना अध्यक्ष नीरज कुमार ने बताया कि एएसआई जितेंद्र कुमार एवं पुलिस टीम पर ग्रामीणों के द्वारा हमला की खबर सुनते ही पुलिस अधीक्षक डी एस सावला राम को सूचना दिया। पुलिस अधीक्षक ने सीतामढ़ी थाना, हिसुआ थाना ,नरहट थाना और सिरदला थाना को दल बल के साथ गंभीरा गांव भेजा।

सभी थाने की पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए 2 महिला एवं 14 पुरुष यानी कुल 16 लोगों को गिरफ्तार कर थाना लाया। घायल एएसआइ जितेंद्र कुमार और महिला जवान प्रियंका कुमारी को पीएचसी मेंसकौर में इलाज करवाया गया। उन्होंने बताया कि सभी गिरफ्तार व्यक्ति पर प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। महिला प्रताड़ना के मामले में हरला निवासी सुनील रघुवंशी ने मृतक के परिजनों सहित कुल 18 लोगों के खिलाफ अलग से  प्राथमिकी दर्ज कराई है।

Edited By: Prashant Kumar