गया । दुनिया में कहर बरपाने वाले कोरोना वायरस के कारण मंदिरों के द्वार श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए हैं। चैत्र नवरात्र बुधवार से प्रारंभ होगा। ऐसे में देवी मंदिरों में सामूहिक दुर्गा पाठ का आयोजन नहीं होगा। मंदिर प्रबंधकों ने श्रद्धालुओं ने आग्रह किया है कि कोरोना वायरस को लेकर मंदिरों में श्रद्धालुओं को भीड़ नहीं लगाना है। घरों में रहकर मां दुर्गा का पाठ करें।

-------------

कोरोना वायरस को लेकर निर्णय लिया गया है कि बंग्ला स्थान मंदिर में चैत नवरात्र में सामूहिक पाठ का आयोजन नहीं किया जाएगा। श्रद्धालुओं से आग्रह है कि मां बंग्लामुखी एवं नवदुर्गा का पाठ घरों में ही करें।

नागेंद्र मिश्र, पुजारी बंग्ला स्थान मंदिर

-------------

जनहित में मां मंगलागौरी प्रबंधकारिणी समिति ने निर्णय लिया है कि मां मंगलागौरी मंदिर में नवदुर्गा का सामूहिक पाठ नहीं होगा। क्योंकि गर्भगृह कई दिनों से बंद है। श्रद्धालुओं निवेदन है कि घरों को रहकर महामारी से निजात हेतु दुर्गा पाठ एवं जाप करें।

लखन गिरि, पुजारी मां मंगलागौरी मंदिर

-----------------

मंदिर में नवरात्र में किसी तरह के अनुष्ठान नहीं करें। लॉकडाउन को देखते हुए श्रद्धालु घरों में रहकर मां भगवती का पाठ करें। मां भगवती का घरों मन से पाठ करें।

चंद्र भूषण मिश्र, पुजारी दुखहरणी मंदिर

------------

मंदिर परिसर में चैत्र नवरात्र में अनुष्ठान करने वाले भक्तों से अनुरोध है कि घरों में रहकर मां दुर्गा एवं मां वागेश्वरी का पाठ करें। कोरोना वायरस से सचेत रहें। मंदिर में आने का कोई जरूरत नहीं है।

प्रमोद पांडेय, पुजारी वागेश्वरी मंदिर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस