गया । ग्राम निर्माण मंडल खादी ग्रामोद्योग समिति बुनियादगंज लक्खीबाग में कोरोना का भय दिखना शुरू हो गया। खादी के वस्त्रों एवं अन्य सामग्री की बिक्री में काफी कमी आई। प्रतिदिन पचास हजार की खादी वस्त्रों की बिक्री होने वाले भंडार केंद्र पर शुक्रवार को मात्र पांच हजार की बिक्री हुई। इसके कारण खादी एवं अन्य सामग्री की उत्पादन कम होने लगी। खादी एवं अन्य सामग्री की उत्पादन थोड़ा बहुत हो भी रहा है वो कारीगर मास्क लगाकर कर रहे हैं। फिर भी वे भयभीत हैं।

-----------

उद्योग में लटका ताला

खादी ग्रामोद्योग में प्रतिदिन विभिन्न तरह के खादी वस्त्र, नीम साबुन, अगरबत्ती, सरसों तेल, सत्तू, मधु काफी मात्रा में तैयार किए जाते हैं। कोरोना वायरस के कारण सारे उद्योग शनिवार से बंद कर दिए गए हैं। उद्योग में काम करने वाले कारीगर को खादी ग्रामोद्योग परिसर में बने आवास में ही रहने की अपील की गई है।

-----------

विदेश में खादी जाना बंद

खादी ग्रामोद्योग में तैयार खादी वस्त्रों की बिक्री फ्रांस, जर्मन आदि जगहों पर प्रतिमाह होती थी। कोरोना वायरस के भय से खादी वस्त्र विदेशों में जाना बंद हो गया। इसके कारण खादी वस्त्रों की बिक्री काफी प्रभावित हुई।

----------------------

कोरोना की वजह से खादी ग्रामोद्योग में उत्पादन एवं बिक्री पर जबरदस्त असर पड़ा। विदेशों में भी खादी वस्त्र जाना बंद हो गए हैं। बचाव के लिए खादी के मास्क एवं नीम के पत्ते से फिनाइल तैयार किए गए हैं। इसकी बिक्री मगध प्रमंडल के सभी खादी भंडार केंद्रों पर किया जाएगा। यहां ग्राहकों को कोरोना से बचाव के उपाय भी बताया जाएगा। कोरोना वायरस की वजह से खादी ग्रामोद्योग को शनिवार से बंद कर दिया गया है।

-सुनिल कुमार, मंत्री, ग्राम निर्माण मंडल खादी ग्रामोद्योग

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस