संवाद सहयोगी, टिकारी : जलस्रोतों में डूबकर बच्चों के मरने का सिलसिला रुक नहीं रहा है। अलीपुर थाना क्षेत्र के निमसर गाव में सोमवार सुबह एक और बच्चे की नदी में डूबने से मौत हो गई। उसकी पहचान आदित्य कुमार (14 वर्ष)पुत्र सकलदेव शर्मा के रूप में हुई है।

ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार सुबह आदित्य शौच के लिए मोरहर नदी में निर्मित सुलिस गेट के समीप गया था। इस दौरान उसका पैर फिसल गया और वह गहरे पानी में समा गया। काफी देर तक घर नहीं लौटने पर परिजनों ने तलाशी शुरू की तो पता चला कि नदी में डूब गया है। ग्रामीणों ने काफी मशक्कत कर उसके शव को पानी से निकाला और अनुमंडलीय अस्पताल ले गए। वहां चिकित्सकों ने मृत लाया घोषित कर दिया। आदित्य कुमार ज्ञान भारती स्कूल में छठी कक्षा में पढ़ रहा था। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए शव को मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में भेज दिया है। बच्चे की मौत के बाद गांव के लोग गम में डूबे हुए हैं। माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है।

वहीं, प्रशासन द्वारा मृतक के परिजनों को पारिवारिक लाभ योजना के तहत 20 हजार व कबीर अत्येष्टि योजना के तहत तीन हजार रुपये की मदद दी गई है।

-----------

जांच रिपोर्ट का इंतजार

गया जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में नदी, तालाब या अन्य जलस्रोतों में डूबने से एक महीने में करीब बीस बच्चों की मौत हो चुकी है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन चेतावनी बोर्ड लगाने का निर्देश दे चुका है। अवैध खनन को लेकर जांच टीम भी गठित की जा चुकी है। जांच टीम की रिपोर्ट आने के बाद ही सही कारणों का पता चल सकेगा।

------------

बालू उठाव के विरोध में

विशाल आमसभा 23 को

संसू, इमामगंज : प्रखंड में अवैध रूप से बालू उठाव किए जाने से ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। प्रखंड के नदियों से बालू उठाव पर रोक लगाने के लिए बालू बचाव संघर्ष समिति का गठन किया गया है। संगठन के निदेशक प्रहलाद प्रसाद, रंजू कुमारी, अर्जुन चौधरी आदि ने बताया कि बालू उठाव को बंद करने की माग को लेकर 23 सितंबर को प्रखंड के गांधी मैदान में आक्रोश पूर्ण विशाल आमसभा का आयोजन किया गया है।

Posted By: Jagran