गया। अनुमंडल क्षेत्र के कुछ चिह्नित गावों में सेंटर डायरेक्ट संस्था द्वारा बच्चों के अधिकारों का हनन व बाल मजदूरी को रोकने के लिए बुनियादी शिक्षा सह प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ सोमवार को किया गया।

शेरघाटी के मोहब्बतपुर टोला मुर्गियाटाड पंचायत भवन में सोमवार को लड़कियों के लिए सिलाई प्रशिक्षण केंद्र एवं लड़कों के लिए क्रीड़ा प्रशिक्षण केंद्र खोला गया है। चितापकला पंचायत के आगनबाड़ी केंद्र योगापुर में भी इस केंद्र का शुभारंभ किया गया। परियोजना समन्वयक दीनानाथ मौर्य व संचालक धनंजय कुमार ने कहा कि संस्था बाल मजदूरी व मानव व्यापार को रोकने की दिशा में गंभीर है। कम उम्र के गरीब बच्चों तथा उनके अभिभावकों को चंद पैसे की लालच देकर जयपुर, हैदराबाद व दिल्ली जैसे शहरों में भेजा जा रहा है, जहां बंधुआ मजदूर की तरह रखा जाता है। उन्होंने कहा कि इन प्रशिक्षण केंद्रों के माध्यम से लड़कियों और लड़कों का कौशल विकास किया जाएगा, ताकि स्थानीय स्तर पर ही वह अपना काम कर रोजी रोटी कमा सकें। इस मौके पर मुर्गियाटांड में टोलासेवक दीपक माझी के अलावा ग्रामीण मौजूद रहे।

By Jagran