गया। मंगलवार से शुरू हुए मिशन इंद्रधनुष के चौथा व अंतिम चरण का शुभारंभ जयप्रकाश नारायण अस्पताल में द्वीप प्रच्जवलित कर किया गया। साथ ही इस अभियान को लेकर एक मीडिया कार्यशाला का भी आयोजन की गई। डीआईओ डा. सुरेन्द्र चौधरी ने बताया कि इस अभियान में 935 स्थान पर टीकाकरण कराया जा रहा है। ये वैसे स्थान है जहा पर किसी कारण से अधिक बच्चे अप्रतिरक्षित हैं। बताया कि इस अभियान के तहत हुए कार्य में गया जिला का अप्रैल माह में टीकाकरण का ग्राफ 67 प्रतिशत, मई माह में 74 प्रतिशत व जून में बढ़कर 89 प्रतिशत पर पहुंच गया। जबकि इस बार शत-प्रतिशत के करीब पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। जन्म से 2 साल के नौ हजार 8 सौ 59 बच्चे को विभिन्न जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए होने वाले टीकाकरण को लेकर चिन्हित किया गया है। इसी प्रकार एक हजार 8 सौ 33 गर्भवती महिलाओं को टेटनस की टीका देने के लिए चिन्हित किया गया है। वहीं बरसात की वजह से डुमरिया प्रखंड में नवीगढ़ व टेहरीनव और डोभी प्रखंड में खपीया र्भुईंटोली, नदरपुर व सुग्गासोफी गाव में टीकाकरण नहीं होने की बात कही। बताया कि इन जगहों पर आगामी रविवार को टीकाकरण करायी जाएगी। वहीं मोबलाइजेशन के लिए यूनिसेफ के बीएमसी को लगाया गया है। इस कार्य की गुणवता की मॉनेटरींग को लेकर टीम भी बनायी गयी है। इस मौके पर नेशनल मानिटर-दिल्ली के डा. प्रवीण पाटील, अस्पताल उपाधीक्षक डा. विजय कुमार, डब्लूएओ के एसएमओ डा. संजय कुमार सिंह, यूनिसेफ के एसएमसी वाईएन राय, डा. श्रीधर उपाध्याय, बीएमसी शाहीद इकबाल, एनके अम्बष्ट, नेयाज, अंजना, शहुद, सलीम, मुकेश, एवं शब्बा सुल्ताना मौजूद थे।