मोतिहारी । बिहार बाल महिला अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य प्रेमा शाह ने कहा कि बालक-बालिकाओं के प्रति व्यवस्था को संवेदनशील बनना चाहिए। ताकि, उनके अधिकारों की रक्षा सुनिश्चित की जा सके। वे अपनी टीम के साथ शुक्रवार को जांच के लिए मोतिहारी व अरेराज बालिका गृह पहुंची थी। इस दौरान वहां पर रहनेवाली बालिकाओं से आवश्यक पूछताछ भी की। उन्होंने कहा कि यहां से भागी चार बच्चियों के मामले में जांच की जा रही है। उन्होंने बालिकागृह संचालक को लड़कियों के साथ मानवता का पालन करने की सीख दी और कहा कि घर परिवार से दूर रहनेवाली किशोरावस्था में भटकाव की ज्यादा संभावना रहती है। इसलिए उसके साथ संवेदनशील व्यवहार करें। अरेराज प्रखंड की मंगुराहा पंचायत के बलहा में बिहार बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्या प्रेमा शाह ने शुक्रवार को सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता से मुलाकात की। साथ ही मामले की जांच पड़ताल की। जांच पड़ताल के बाद पीड़ित परिवार को मेडिकल सुविधा के साथ-साथ अरेराज एसडीएम से दूरभाष पर बात कर राशन उपलब्ध कराने को लेकर बात की। चाइल्डलाइन अरेराज टीम लीडर अभिषेक कुमार को आवश्यक निर्देश भी दिया। वहीं गोविदगंज थानाध्यक्ष सरफराज अहमद से मामले के संदर्भ में जानकारी लेते हुए फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने की बात कही। मौके पर बाल संरक्षण पदाधिकारी राकेश कुमार, सहायक निदेशक बाल संरक्षण इकाई मोतिहारी प्रतिमा गिरी, चाइल्डलाइन के सदस्य राकेश कुमार, बृजेश कुमार शर्मा, हेमंत कुमार, बजरंगबली कुमार, रिकी देवी आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस