मोतिहारी । जब तक पकड़ीदयाल व चकिया में अनुमंडलीय न्यायालय के लिए आधारभूत ढांचा पूरी तरह तैयार नहीं हो जाता जिला विधिज्ञ संघ अनुमंडलीय न्यायालय के स्थानांतरण का पूरी ताकत से विरोध करता रहेगा। उक्त बातें जिला विधिज्ञ संघ भवन के मुख्य गेट पर अनिश्चितकालीन धरना को संबोधित करते हुए संघ के अध्यक्ष शेषनारायण कुंवर ने कहीं। वहीं संघ के वरीय अधिवक्ता सह बिहार बार कौंसिल के को-चैयरमैन राजीव कुमार द्विवेदी उर्फ पप्पू दूबे ने कहा कि अधिकारों के लिए लड़ना अधिवक्ताओं का अधिकार व नैतिक जिम्मेवारी है। वे न्यायालय कार्य से अपने को अलग रखने का हठयोग स्वयं के लिए नहीं बल्कि मोवक्किलों के लिए कर रहे है। अधिवक्ता दलित, शोषित, पीड़ित व समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों तथा प्रशासन से सताये लोगों को न्याय दिलाने के लिए कर्तव्यनिष्ठ रहते है। संघ के महासचिव कन्हैया कुमार सिंह ने कहा कि हाईकोर्ट बेंच की स्थापना मोतिहारी में होनी चाहिए। यहां बता दें कि अनुमंडलीय न्यायालय पकड़ीदयाल व चकिया को स्थानांतरित किये जाने के विरोध में अधिवक्ता बुधवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं।मौके पर पूर्व सचिव शंभू शरण सिंह, रमाकांत पांडेय, अशोक दुबे, सत्यनारायण गिरि, नरेंद्र मिश्रा, रंजन कुमार, कुमार कुंज रमण, दिवाकर श्रीवास्तव, जितेंद्र सिंह, मो. परवेज आदि थे।

---

Edited By: Jagran