पूर्वी चंपारण [जेएनएन]। ट्रेन में हुई देरी के कारण एसएससी की एमटीएस (मल्टी टास्किंग स्टाफ) परीक्षा से वंचित छात्रों ने रविवार को मेहसी स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। स्टेशन पर तोडफ़ोड़ की और स्टेशन अधीक्षक को बंधक बनाने के बाद डाउन सप्तक्रांति एक्सप्रेस के इंजन में आग लगा दी। रेलमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। छात्रों का कहना था कि ट्रेन विलंब होने से उन्हें परीक्षा से वंचित होना पड़ा, इसलिए परीक्षा रद की जाए। 

स्थिति अनियंत्रित देख ट्रेन स्कॉर्ट कर रहे हेड कांस्टेबल मेहीलाल व आरपीएफ जवानों ने मेहसी थानाध्यक्ष विकास तिवारी के नेतृत्व में पहुंचे सैप जवानों के साथ मिलकर मोर्चा संभाला। आनन-फानन में इंजन की आग बुझाई गई। छात्रों ने स्टेशन पर लगी कंट्रोल यूनिट को भी क्षतिग्रस्त करने की कोशिश की। 

बताया गया है कि रविवार सुबह डाउन सप्तक्रांति एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से चल रही थी। ट्रेन में भारी संख्या में परीक्षार्थी सवार थे। दो बजे से उनकी परीक्षा थी। मुजफ्फरपुर स्थित परीक्षा केंद्र पर उन्हें एक बजे उपस्थिति दर्ज करानी थी। लेकिन, चकिया के बाद गाड़ी विलंब से चलने लगी। इस कारण से छात्र-छात्राओं को परीक्षा से वंचित होना पड़ा।

छात्रों ने कई बार ट्रेन को चलाने का अनुरोध किया। लेकिन, गाड़ी समय से चली नहीं। छात्रों का गुस्सा भड़क गया और वे बवाल करने लगे। हालांकि, ट्रेन को व्यापक पैमाने पर कोई नुकसान नहीं हुआ। परीक्षार्थियों ने कहा कि सरकार फिर से परीक्षा ले।  

ट्रैक टूटने के कारण लेट हुई ट्रेन

स्टेशन अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि मेहसी महवल रेखंड पर 123/0-1 के पास ट्रैक टूट गई थी। मरम्मत के बाद गाड़ी का परिचालन आरंभ कराया गया। इस बीच सप्तक्रांति करीब दो घंटे तक मेहसी स्टेशन व एक घंटे चकिया स्टेशन पर खड़ी रही।

यह भी पढ़ें: हॉर्न बजाने पर गाय मालिक ने फोड़ी आंख

कई ट्रेनों का परिचालन हुआ प्रभावित

हंगामे के कारण अप सप्तक्रांति व डीएमयू सहित कई अप ट्रेनें मोतीपुर व महवल स्टेशन पर खड़ी रहीं। हंगामे के कारण रेलखंड पर करीब दो घंटे तक रेल परिचालन बाधित रहा। बाद में परिचालन शुरू होने के साथ मेहसी पहुंची डीएमयू ट्रेन को भी रोककर परीक्षार्थियों ने हंगामा किया। 

यह भी पढ़ें: चौथी शादी करने वाली थी महिला, संपत्ति के लालच में भाइयों ने कर दी हत्या

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप