मोतिहारी। रक्सौल शहर के विभिन्न क्षेत्रों में रविवार को अनुमंडल प्रशासन ने दवा दुकानों पर छापेमारी कर भारी मात्रा में नशीला दवा का रेपर व खाली बोतल आदि के साथ तीन लोगों को हिरासत में लिया। एसडीओ अमित कुमार को गुप्त सूचना मिली थी कि शहर के दवा दुकानों में अवैध रूप से जीवनरक्षक दवाओं के साथ नशीली दवाओं की खरीद-फरोख्त व्यापक पैमाने पर हो रही है। जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए बैंक रोड स्थित ग्रीन गली के बाबू साहेब के व्यापारिक प्रतिष्ठान पर छापेमारी कर प्रतिबंधित नशीला दवा के साथ गिरफ्तार किया। इसके उपरांत नगर परिषद क्षेत्र के चर्चित मोहल्ला आश्रम रोड प्रेमनगर स्थित बजरंग मेडिकल में छापेमारी की गई। इस दौरान पांच सौ पीस नशीली दवा का रेपर, खाली बोतल और ढक्कन आदि बरामद किया गया। बरामद खाली रेपर में नाइट्रोजेनपॉम आदि दवाएं शामिल है। एसडीओ श्री कुमार ने बताया कि नाट्कीय ढ़ंग से ग्राहक बन मुखबीर पहुंचा। दवा का मांग किया। इस दौरान छापेमारी की गई। जिसमें उक्त प्रतिबंधित दवाओं का रेपर व खाली बोतल बरामद किया। छापेमारी के बाद से शहर में हड़कंप मच गया। इस बीच नशीला दवा खरीद करने वाले आधा दर्जन से अधिक पहुंचे नेपाली युवकों को एसडीओ के अंगरक्षकों ने पूछताछ किया। जिसमें कोई साक्ष्य प्रमाण नहीं मिलने पर उन्हें छोड़ दिया। मोहल्लावासियों ने नाम गुप्त रखने के शर्त पर अधिकारी को बताया कि सुबह पांच बजे से ही नशेड़ियों का जमघट शुरू हो जाता है। छापेमारी की सूचना पर रक्सौल गश्ती दल पहुंच सहयोग करने में जुटी। फिलहाल बरामद सामान और गिरफ्तार लोगों से रक्सौल पुलिस पूछताछ कर रही है। एसडीओ श्री कुमार ने बताया कि ड्रग इंस्पेक्टर को सूचना दी गई है। इस पर विधिसम्मत कार्रवाई किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बताया कि प्रतिष्ठान संचालक नशीली दवाओं का कारोबार बहुत ही बारीकी से कर रहे है। इनके द्वारा अधिकांशत: टेबलेट देकर रेपर रख लिया जा रहा है। जिसे की नशेड़ियों के पास से दवाओं का रेपर बरामद नहीं हो सकें। यहां बता दें कि भारत-नेपाल के उच्चाधिकारियों के समन्वय बैठक में सीमावर्ती क्षेत्रों से नशीली दवाओं की तस्करी के रोकथाम के संबंध में सवाल उठता रहा है। जिसको लेकर अनुमंडल प्रशासन गुप्त सूचना के आधार पर नशीली दवाओं के कारोबार से जुड़े संदिग्धों को चिहित कर छापेमारी शुरू किया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप