मोतिहारी। पूर्व मध्य रेलवे के मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज-रक्सौल रेल मार्ग पर अबतक पैसेंजर गाड़ियों के नहीं चलने से क्षेत्र के लोगों को भारी परेशानी का सामना का करना पड़ रहा है। रोजमर्रा के कामों को लेकर आसपास के क्षेत्रों में आने-जाने की रेल सुविधा अब तक बहाल नहीं की जा सकी है। इसको लेकर लोगों को सड़क मार्ग का सहारा लेना पड़ रहा है जो काफी कष्टदायक और महंगा पड़ रहा है।यह स्थिति पिछले वर्ष 24 मार्च से बनी हुई है। कोराना संक्रमण के चलते रेलवे ने रेल परिचालन को रोका है। वर्ष 2020 के मार्च महीने के अंतिम सप्ताह से रेलगाड़ियों का चलना पूर्ण रूप से बंद है। इधर पिछले महीने से कुछ गाड़ियों को स्पेशल ट्रेन के रूप में चलाया जा रहा है। इसमें केवल आरक्षित टिकट से यात्रा करने वालों को हीं स्टेशन में प्रवेश और ट्रेन में यात्रा करने दी जा रही है। ट्रेन के समय खुले काउंटर से सामान्य दर पर टिकट लेकर यात्रा करने की सुविधा उपलब्ध नहीं है। जबकि रक्सौल-दरभंगा रेलखंड में पैसेंजर ट्रेन चल रही है। इस रूट पर यात्रा के लिए पहले की तरह साधारण चार्ज पर टिकट मिल रहा है। इसके लिए रक्सौल से दरभंगा के बीच के सभी स्टेशनों पर यात्रा के समय काउंटर से टिकट मिल रहा है।

--------

ट्रेनों के अभाव में मुश्किल हो रही यात्रा फिलहाल लंबी दूरी की ट्रेनें चल रही हैं। क्षेत्रीय यात्रा के लिए नरकटियागंज से मुजफ्फरपुर के लिए एकमात्र स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन और नरकटियागंज से पाटलिपुत्र के लिए स्पेशल इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन चल रही है। इस ट्रेन में पहले रक्सौल से आकर एक रैक जुट कर पाटलिपुत्र जाती थी। फिलहाल इस सेवा को भी बन्द कर दिया गया है। रक्सौल से सुगौली तक के लोकल यात्रा के लिए कोई ट्रेन नहीं चल रही है। इसके चलते धरमीनिया,रामगढ़वा और मसनाडीह स्टेशन से ट्रेन की यात्रा करने वाले लोग टापू क्षेत्र की तरह वंचित रह गए है। इन दिनों उनकी यात्रा का एक मात्र महंगी और परेशानी वाली सहारा सड़क मार्ग हीं है।

--

इनसेट

तुरंत यात्रा के लिए नहीं मिल रहा टिकट

फिलहाल इस रूट में चलने वाली गाड़ियों से सफर करने के लिए पहले टिकट का रिजर्वेशन करवाना पड़ रहा है। हाथों हाथ टिकट लेकर यात्रा करने की सुविधा नहीं है। मासिक सीजन टिकट पर भी यात्रा करने पर जुर्माना भरना पड़ रहा है। चलने वाली इन स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने पर यात्रियों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। एक तो गाड़ियों में कोरोना को लेकर बहुत सारी सुविधाएं बन्द कर दी गई है ,उपर से किराया काफी बढ़ा दिया गया है। लोगों का कहना है कि सरकार को केवल ट्रेन चलाने में कोरोना की बीमारी फैल रही है। जबकि बसों में लोग उपर से नीचे लदकर यात्रा कर रहे है। उपर से किराया भी मनमाना वसूला जा रहा है। बाजारों में लोगों की भीड़ उमड़ रही है। मुखिया महेश सहनी, किशोर पांडेय, देवधारी यादव, उपेन्द्र सहनी, उमेश कुमार, राजेश कुमार,अरविद यादव, रेयाजुल हक मुन्ना, मोहन साह, राकेश पटेल,सुभाष सिन्हा सहित अन्य लोगों ने पहले की तरह सभी रूटों में अविलंब पैसेंजर और एक्सप्रेस गाड़ियों को चलाने की मांग की है।साथ हीं सभी स्टेशनों पर चौबीसों घंटों टिकट काउंटर खोलने और सामान्य चार्ज पर टिकट मिलने की सेवा बहाल करने की मांग की है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप