मोतिहारी । हरसिद्धि में आरटीआइ कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल की शुक्रवार को गोली मार हुई हत्या के बाद उनके स्वजनों से मिलने शनिवार को राजद प्रदेश प्रवक्ता ऋतु जायसवाल यहां पहुंची। उन्होंने मृतक के पिता विजय अग्रवाल से बात की तथा उन्हें हरसंभव न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया। विपिन के पिता ने बताया कि उनका पुत्र आरटीआइ कार्यकर्ता था और अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध वह हाईकोर्ट में मुकदमा कर सरकार की मदद कर रहा था। यह कार्य बहुत लोगों को नागवार लग रहा था। 16 फरवरी 2021 को भी उसके परिवार पर हमला किया गया था। उसकी पत्नी मोनिका को घसीट कर प्रखंड मुख्यालय के गेट तक ले जाया गया था। उन्होंने बताया कि धनखरैया में जब हाईकोर्ट के निर्देश पर मकान तोड़े जा रहे थे। उस समय भी सब लोगों ने विपिन को ही टारगेट किया और हमला किया। उन्होंने बताया कि उसमें सीओ सतीश कुमार और पुलिस प्रशासन की भी मिलीभगत थी। उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की मांग की गई थी पर प्रशासन द्वारा कोई पहल नहीं की गई। विपिन की पत्नी मोनिका ने भी बताया कि बहुत लोगों से धमकी मिलने और भय के कारण प्राथमिकी में अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। वहीं रितु जायसवाल ने कहा कि हरसिद्धि में पुलिस प्रशासन निकम्मा हो गया है। 16 मार्च 2021 को मटियरिया में पैक्स अध्यक्ष पवन गुप्ता की हत्या कर दी गई थी। उसके बाद से लगातार कई हत्याएं हुई जिसमें पत्रकार मनीष कुमार सिंह की की हत्या, आलोक यादव की हत्या, रुपेश तिवारी की हत्या तथा इधर विपिन अग्रवाल की हत्या कर दी गई। लेकिन पुलिस प्रशासन इसपर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की। उन्होंने बताया कि इस की लड़ाई को हमलोग लड़ेंगे और पीड़ितों को न्याय दिलाएंगे। मौके पर भाकपा माले के प्रभुदेव यादव, विधानसभा के पूर्व राजद प्रत्याशी नागेंद्र राम, सुरेंद्र यादव, अरुण सिंह सहित कई नेता मौजूद रहे।

Edited By: Jagran