मोतिहारी। सिकटा से घोड़ासहन जाने वाली नहर पथ की जर्जर स्थिति व नरकटियागंज-समस्तीपुर के बीच ट्रेन परिचालन की समस्या को लेकर पांच दिवसीय पदयात्रा दूसरे दिन रक्सौल पहुंची। पदयात्रा का नेतृत्व समाजसेवी राजन चौरसिया कर रहे है। जगह-जगह पर लोगों ने पदयात्रा में शामिल लोगों का भव्य स्वागत किया। इसमें शामिल प्रभुनारायण, स्वच्छ रक्सौल संस्था के अध्यक्ष रणजीत सिंह, रमेश सिंह, भारद्वाज सिंह, जावेद आलम, रामविनय गुप्ता, बुन्नीलाल पासवान, संजीव सिंह आदि लोगों ने बताया सिकटा से घोड़ासहन तक ये पथ काफी जर्जर हो गई है। वहीं नरकटियागंज से रक्सौल होते हुए समस्तीपुर पूर्व की भांति रेल परिचालन करने की मांग को लेकर यह पदयात्रा निकाली गई है। ताकि जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट हो, साथ ही जनता समस्याओं के प्रति जागरूक हो। उन्होंने बताया पहले इस रूट से 6 जोड़ी ट्रेनें चलती थी। अभी मात्र दो जोड़ी ट्रेनों का परिचालन हो रहा है। वहीं पूर्वी व पश्चिमी चंपारण को जोड़ने वाला ये नहर पथ काफी जर्जर हो गया है । हजारों लोग प्रतिदिन जान हथेली पर लेकर इस पथ पर यात्रा करते है । इतने वर्षो बाद भी इसकी मरम्मती न होना अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की निष्क्रियता का बता रहा है। उन्होंने बताया कि पदयात्रा 14 को आदापुर, 15 को छौड़ादानो व 16 अक्टूबर को घोड़ासहन पहुंचेगी । ग्रामीण जगह-जगह पदयात्रा में शामिल लोगों का स्वागत कर रहे है। वही शांतिपूर्ण तरीके से अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों का ध्यान आकृष्ट करा रहे हैं। मौके पर सुरेंद्र केसरी, गिरधारी सर्राफ, राजा कलवार, हरेंद्र साह, रोहित कुमार गुप्ता, अवध हुसैन, प्रमोद साह, म. एजाज, बिटू चौरसिया, म. समशुद्दीन, रौशन ठाकुर आदि लोग शामिल थे ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप