मोतिहारी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अरेराज के जिस आदर्श पंचायत पिपरा में बुधवार को आ रहे हैं उसी पंचायत में करीब दस वर्षों से उपेक्षा की चादर ओढ़े सामुदायिक भवन पर किसी की नजर नहीं है। तत्कालीन विधायक मीना द्विवेदी की अनुशंसा पर गुरहां गांव के तेतर चौक पर इसका निर्माण शुरू किया गया लेकिन आजतक इसे पूर्णता हासिल नहीं हो सकी। हद तो यह कि इसके नाम पर पूरी राशि का उठाव भी कर लिया गया है। कुछ सजग लोगों ने जब इस मामले को उठाया तो संबंधित विभाग कोई जानकारी देने तक से परहेज कर रहा है। इसको लेकर बीडीओ-सीओ व डीएम तक को इस मामले की जानकारी दी गई लेकिन कुछ नहीं हुआ। आज जब खुद मुख्यमंत्री पंचायत में आ रहे हैं तो लोगों को एक बार फिर उम्मीद की किरण नजर आने लगी है। पंचायत के सरपंच धनंजय चौबे, विकेश पाण्डेय, राकेश पांडेय, उमाशंकर पांडेय, उमेश पांडेय, रामनिवास पांडेय, रामायण साह, बिटू तिवारी और झुन्ना चौबे आदि लोगों का कहना है कि अब इस मामले पर चुप रहने से बेहतर है मुख्यमंत्री से मिलकर ही इस पूरे घोटाले की जानकारी दी जाए। लोगों का कहना है कि सामुदायिक भवन बन जाने से गांव में सार्वजनिक उत्सव व बैठक आदि कराने में काफी आसानी होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस