मोतिहारी। अरेराज प्रखंड के पिपरा को आदर्श पंचायत के लिए चयन किया गया है। इसको लेकर यहां हर प्रकार की सुविधाएं लोगों को उपलब्ध हो इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में एसडीओ धीरेंद्र कुमार मिश्र ने पंचायत का भम्रण कर हो रहे कार्यो का जायजा लिया। एसडीओ ने बताया कि आदर्श पंचायत पिपरा जितवारपुर स्थित उत्क्रमित उच्च विद्यालय की चाहदीवारी का निर्माण कार्य आरंभ कर दिया गया है। बताया कि जल्द ही 225 परिवारों को राशन कार्ड का वितरण किया जाएगा, ताकि सरकारी दर पर उन्हें खाद्यान्न मिल सके। पंचायत में 58 परिवार को शौचालय निर्माण का प्रोत्साहन राशि मिल गया है।शेष 200 परिवार के जियो टैगिग का कार्य शुरू कर दिया गया है। एसडीएम श्री मिश्रा ने बताया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन से वंचित लाभार्थियों को चिन्हित कराने का निर्देश बीडीओ को दिया गया है। सभी सरकारी संस्थान व परिसर में वर्षा जल संचय के लिए कार्य शुरू कराया गया है। स्वास्थ्य स्वस्थ विभाग द्वारा अरेराज प्रखंड में दो वेलनेस सेंटर के लिए मलाही और पिपरा उपकेन्द्र को चयन किया गया था। मलाही में वेलनेस सेंटर का कार्य विगत वर्ष पूर्ण कर लिया गया। जबकि आदर्श पंचायत के रूप में चिन्हित पिपरा पंचायत में अभी तक कार्य भी शुरू नहीं किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की शिथिलता के चलते पिपरा पंचायत को आदर्श पंचायत बनने में बाधक साबित हो रहा है। इस संबंध में अरेराज रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि इसकी सूचना जिला को कई बार दी गई है। लेकिन जिला द्वारा इसपर पहल नहीं करने से कार्य शुरू नहीं हो रहा है। चिकित्सा पदाधिकारी श्री कुमार ने बताया कि स्वस्थ विभाग ने निर्णय लिया है कि आरबीएस द्वारा पिपरा पंचायत के सभी बच्चों का प्रत्येक माह स्वास्थ्य जांच कराया जाएगा। जिसमें आंगनबाड़ी केंद्र को शामिल किया जाएगा। मौके पर बीडीओ मनोरंजन कुमार पांडेय, समाजसेवी पप्पू रंजन मिश्र मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप