मोतिहारी। अपर कार्यपालक निदेशक राज्य स्वास्थ्य समिति की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से राज्य के सभी सिविल सर्जन, जिला शिक्षा पदाधिकारी के साथ राज्य भर में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के सभी मैट्रिक से इंटरमीडिएट परीक्षार्थियों की परीक्षा के पूर्व अनिवार्य रूप से कोविड-19 टीकाकरण से अच्छादित करने हेतु समीक्षा बैठक आयोजित की गई। संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य भर में सभी 15 से 18 आयु वर्ग के किशोर एवं किशोरियों का कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु टीकाकरण कराया जा रहा है। विदित हो कि आगामी मैट्रिक से इंटरमीडिएट तक सभी बोर्ड यथा बिहार बोर्ड, सीबीएसई, आईसीएसई का संचालन किया जाना है। इस परीक्षा में सामान्यत: 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के परीक्षार्थी सम्मिलित होते हैं। ज्ञात हो कि उक्त परीक्षा में कोविड-19 टीकाकरण के लिए योग्य लाभार्थी काफी संख्या में सम्मिलित होते हैं एवं कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक है कि सभी योग्य लाभार्थियों का टीकाकरण परीक्षा के पूर्व करा लिया जाए। निर्देश देते हुए कहा कि अपने जिला अंतर्गत 15 से 18 आयु वर्ग एवं मैट्रिक्स ,इंटरमीडिएट की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का 26 जनवरी 2022 तक टीकाकरण हर हाल में कराना सुनिश्चित करें। टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए जिला स्तरीय एवं प्रखंड स्तरीय टास्क फोर्स का गठन करना सुनिश्चित करें। वैसे विद्यालय जिनके द्वारा शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है, उन्हें गणतंत्र दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जाए। जिला के सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी अपना माइक्रो प्लान अवश्य भेज दें। सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अपने विद्यालय में तिथि एवं समय का निर्धारण करते हुए उक्त तिथि को विद्यार्थियों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करेंगे। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी भी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से संपर्क स्थापित करते हुए आज ही उनके वैसे सभी विद्यालय हेतु तिथि और समय का निर्धारण कर लेंगे और उक्त तिथि और समय पर अपनी वैक्सीनेशन टीम भेजना सुनिश्चित करेंगे। इस अवसर पर सिविल सर्जन, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, सभी प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक, सहयोगी संस्था के प्रतिनिधि आदि वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से जुड़े थे।

Edited By: Jagran