मोतिहारी। सरकार बच्चों को शिक्षा देने के लिए गांव-गांव में स्कूल खोल रही है। वहीं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए विद्यालयों में तरह-तरह की योजनाएं चला रही है। जिसे की बच्चे शिक्षा प्राप्त कर सकें। लेकिन, आदापुर में प्रखंड स्तर पर इसका लाभ नहीं मिल रहा है। कही समय से छात्र पहुंच जा रहे है तो शिक्षक नहीं। ऐसी स्थिति चितनीय है। प्रतिमाह एक विद्यालय में प्रखंड स्तर पर बीईओ, सीआरसीसी, एमडीएम प्रभारी आदि के द्वारा जांच की जाती है। लेकिन, वैसे शिक्षकों पर कार्रवाई की गाज अबतक नहीं गिर सकी है। मंगलवार को दिन के करीब 11:40 बजे दैनिक जागरण की टीम प्रखंड क्षेत्र के बेलहिया गांव स्थित एनपीएस पहुंची। इस विद्यालय में छह शिक्षकों की नियुक्ति है। जिनमें मो. सैमुल्ला ही उपस्थित थे। वहीं नामांकित 160 छात्रों में महज 22 छात्र ही उपस्थित थे। शिक्षकों के संबंध में उपस्थित शिक्षक ने अनभिज्ञता जाहिर की। कहा कि कौन कब आता है इसकी जानकारी हमें नहीं है। इस विद्यालय की शिक्षिका विगत एक माह से बगैर सूचना के अनुपस्थित है। इस संबंध में पूछे जाने पर बीईओ रंजना कुमारी ने बताया कि विद्यालय की जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप