दरभंगा । विशनपुर थाना क्षेत्र के मुस्तफापुर गांव में एक युवक फंदे से झुलकर अपनी जान दे दी। बताया जाता है कि स्थानीय निवासी छेदी सहनी के पुत्र बिरजू सहनी (25) अपनी पत्नी की बेवफाई से पहले ही परेशान था। घर से फरार हुई उसकी पत्नी की जब अचानक वापसी हुई तो सरपंच के पति सहित गांव के कई लोग सामाजिक दबाव देकर पहले की तरह पत्नी के साथ रहने का फरमान जारी कर दिया। इसको लेकर बिरजू से पंचनामा पर हस्ताक्षर भी कराया। लेकिन, बिरजू मन से अपनी पत्नी को स्वीकार करने को तैयार नहीं था। घटना के दूसरे ही दिन वह फंदे से झूल गया। सूचना से परिवार में कोहराम मच गया।

घटना की सूचना पर पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं बिरजू के पिता ने सरपंच के पति राजा शर्मा, सहित गांव के श्याम यादव, लाल यादव पर बहू को जबरन घर में फिर से रखने के लिए दबाव देने का आरोप लगाया है। कहा है कि इससे उनके परिवार का इज्जत समाज में धूमिल होता देख उनका पुत्र फंदे से झूलकर जान दे दी। वह सामाजिक दबाव और अपनी इज्जत पर दाग लगने का दंश नहीं झेल पाया। मामले को लेकर मृतक के पिता ने सरपंच के पति राजा शर्मा, बहू सीमा देवी उर्फ शोभा सहित गांव के श्याम यादव, लाल यादव पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। इधर, गांव वालों का कहना है घटना की जानकारी पुलिस पुलिस को पहले से थी। अगर समय रहते पुलिस कार्रवाई करती तो बिरजू की जान नहीं जाती। बताया जाता है कि बिरजू की पत्नी सीमा देवी उर्फ शोभा अपने पति से बेवफाई कर गांव के ही एक युवक के साथ घर से फरार हो गई थी। एक माह बाद वह अचानक 31 जुलाई को अपने घर पहुंच गई। इसके बाद पति उसे रखने को तैयार नहीं था।

-

Edited By: Jagran