दरभंगा। सड़क हादसा का शिकार हुए सत्यम कुमार उर्फ गोलू (18) का शव गांव पहुंचते ही कोहराम मच गया। मां बबीता देवी व वृद्ध नानी सरोवर देवी तथा सलोनी कुमारी शव से लिपटकर दहाड़ मारकर रो रही थी। होश आने पर मां बस यहीं कह रही थी कि कहां गेलै रे हमर श्रवण दुलरूआ बेटा..। नानी छाती पीट-पीट कर दहाड़ मार रही थी। अपने कंद्रन चित्कार में बस यहीं कह रही थी कि कहां गेलै रे हमर सुगवा नाती..। बहन सलोनी भी फूट-फूट कर रो रही थी। वह कह रही थी कि भैया हो भैया आब केकरा राखी बांध वैय हो भैया..। गांव से पहुंचे महिलाएं भी अपनी आंसू पोंछते हुए सभी का ढाढ़स बंधा रही थी। नाना नयागांव पश्चिमी पंचायत के पूर्व मुखिया व राजद नेता लखीचंद्र यादव, दादा प्रेमी यादव तथा पिता लक्ष्मी नारायण यादव सहित परिवार के अन्य सदस्यों के आंखों से केवल आंसू ही निकल रहे थे। सभी बोलने की स्थिति में नही थे। सत्यम अपने माता- पिता के दो संतानों में इकलौता पुत्र था। वह केएस कॉलेज के बीए पार्टी वन का छात्र था। उसके पिता किसान हैं। वहीं मां आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 71 की सेविका है। बताया जाता है कि सत्यम शुक्रवार को पंडौल से वापस घर आ रहा था। इसी बीच सदर थाना के जीवछ घाट के पास पिकअप वैन ने टक्कर मार दी। जिसमें सत्यम की मौत हो गई। मौत की खबर सुनते ही विधान पार्षद प्रतिनिधि करूणानंद मिश्र, जिपस मो. समीउल्लाह खां शमीम, मुखिया नीलम देवी, पंसस अमृता कुमारी, पूर्व मुखिया जयशंकर मिश्र बौआजी, मुखिया प्रतिनिधि सुनील पासवान, पंसस प्रतिनिधि समीर दयाल उर्फ दीपक पासवान, जदयू के रौशन कुमार मिश्र आदि ने मृतक सत्यम के घर पहुंचकर शोक संप्पत परिजनों को सांत्वना दी। इधर, विधायक डॉ. फराज फातमी, लोजपा अध्यक्ष मनोज कुमार गुप्ता, हम के जिला उपाध्यक्ष रमण कुमार मिश्र ने भी सत्यम की असामयिक मौत पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।

------------------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप