दरभंगा। कमला बलान नदी के जलस्तर में तीसरे दिन उतार चढ़ाव जारी है। घनश्यामपुर के कई गांव टापू बने हुए हैं। बाउर, नवटोलिया, गिद्धा, कन्की मुसहरी, वैद्यनाथपुर, भरसाहा आदि गांव चारों तरफ से बाढ के पानी से घिरे हुए हैं दोनों तटबंध के बीच में बसे इन आधा दर्जन गांव का सड़क संपर्क भंग है। गांव की सभी सड़कें डूबी हुई हैं। कमला पश्चिमी तटबंध से बाउर गांव को जोड़ने वाली आरईओ सड़क पर चार से पांच फुट पानी बह रहा है। मध्य विद्यालय रसियारी, मध्य विद्यालय बाउर, प्राथमिक विद्यालय नवटोलिया में पानी घुसने से बच्चों की पढ़ाई बाधित है। प्रशासन की ओर से नाव की कमी से बाढ़ पीड़ितों में आक्रोश है। पशु चारा, ईंधन, पेयजल आदि के लिए बाढ़ पीड़ित निजी नाव या पानी होकर आ-जा रहे हैं। बाढ़ से फसलों को भारी क्षति पहुंची है। जलस्तर बढ़ने से पश्चिमी तटबंध पर पानी का दवाब बन जाता है, लिहाजा बांध की चौकसी बढ़ा दी गई है। जरूरत के स्थानों पर फ्लड फाइ¨टग का कार्य जारी है। विभागीय अभियंता बांध पर कैंप कर रहे हैं। इस संबंध में विभाग के अधीक्षण अभियंता एसएन यादव ने बताया कि नदी का जलस्तर झंझारपुर में खतरे के निशान से ऊपर है। नेपाल में हो रही भारी वर्षा से जलस्तर और बढ़ने की संभावना है। बावजूद उन्होंने स्थिति को पूरी तरह नियंत्रण में बताया है।

Posted By: Jagran