दरभंगा। : प्रसिद्ध रसायन शास्त्री डॉ. प्रेम मोहन मिश्रा ने कहा है कि पृथ्वी पर जीवन की निरंतरता को बनाए रखने के लिए जल व हरियाली दोनों जरूरी है। मंगलवार को करम गंज स्थित शिक्षा भवन में प्रमंडलीय विज्ञान संगोष्ठी का उद्घाटन करते हुए उन्होंने उक्त बातें कहीं। जिला विज्ञान समन्वयक राम बुझावन यादव रामकर की अध्यक्षता में आयोजित विज्ञान संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि प्रो. महेश चंद्र मिश्र ने कहा कि सीवी रमन ऐसे वैज्ञानिक थे, जिन्होंने मानव कल्याण के लिए कई शोध किए। उनके शोध से मानव जीवन सरल हुआ। जीवन की कठिनाइयों पर काबू पाया गया। इसीलिए उनके जन्मदिन पर हम लोग विज्ञान दिवस का आयोजन करते हैं। आज विज्ञान की लोकप्रियता का का ही नतीजा है कि यह जीवन उपयोगी सारी सामग्री पर्याप्त मात्रा में बाजारों में उपलब्ध है। आज हर काम उपकरण के माध्यम से कर रहे हैं। हमारी खेती इतनी विकसित हो गई है। हमारी चिकित्सा प्रणाली इतनी विकसित है। यह सब सीवी रमन के शोध की देन है। इस अवसर पर विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों ने अपनी-अपनी परियोजनाएं प्रदर्शित की। सीएम साइंस कॉलेज के 12 वीं के छात्र रोहन राज सिंह को निर्णायक मंडल ने प्रथम विजेता घोषित किया। रोहन पटना में प्रस्तावित राज्य स्तरीय विज्ञान संगोष्ठी में दरभंगा प्रमंडल का प्रतिनिधित्व करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस