दरभंगा। अनुमंडल मुख्यालय से महज तीन किलोमीटर दूरी पर स्थित लदहो पंचायत के ग्रामीणों ने कमला नदी में चचरी का पुल निर्माण कर मिसाल कायम की है। पुल का निर्माण तो जनसहयोग से किया गया, लेकिन निर्माण में लगे मजदूरों को ग्रामीणों के चंदे मजदूरी दी गई। बता दें कि अनुमंडल और प्रखंड मुख्यालय से लदहो पंचायत का सड़क संपर्क पूरी तरह भंग हो चुका था। इसी को देखते हुए ग्रामीणों ने बैठक की और जनसहयोग से चचरी पुल निर्माण का निर्णय किया। पुल निर्माण में करीब एक माह लगे। ग्रामीणों ने बताया कि सरकार की नजर में चौतरफा विकास हो रहा है, लेकिन आज भी दर्जनों ऐसे गांव-कस्बे हैं जहां विकास की किरण नहीं पहुंची है। लोग आज भी अपने आप को उपेक्षित समझ रहे हैं। पुल नहीं बनाए जाने से लोगों को 13 किमी घूम कर अनुमंडल मुख्यालय पहुंचना पड़ता था। जनसहयोग से बने इस चचरी पुल का उदघाटन मुखिया पति दिलीप चौधरी, पूर्व मुखिया विरेंद्र चौधरी आदि ने फीता काटकर किया। ग्रामीण सह शिक्षक बैद्यनाथ झा, रामचंद्र यादव, विजय कृष्ण चौधरी, कुलकुल सहनी, हरेराम राम, गणेश पंडित आदि ने बताया कि जनप्रतिनिधि चुनाव जीतने के बाद पुल का निर्माण भूलते रहे। इस बार पुल नही तो वोट नहीं। बता दें कि लदहो पंचायत से सटे कई पंचायत हैं जहां लोगों को अभी भी पुल की सुविधा नहीं है। मौके पर लालो सहनी, कृष्ण कुमार, महावीर मुखिया, कमल किशोर शर्मा, संजीव चौधरी, भिखन सहनी, रामचंद्र यादव, बमबम चौधरी, गौतम, मो. यासीन, मो. मंजूर सहित दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे।

Posted By: Jagran