दरभंगा। हरिहठ पंचायत में सूचना के अधिकार के तहत मुखिया से जानकारी मांगने और गड़बड़ी का पर्दाफाश करने का मामला गरमा गया है। उप मुखिया पति के आवेदन पर थाने में मुखिया रजी अहमद के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया गया है। हालांकि मुखिया ने मारपीट से इन्कार किया है। लेकिन एक ग्रामीण इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है।

हरियठ के उप मुखिया पति हसमुद्दीन अंसारी ने थाना में दिए आवेदन में कहा है कि रविवार की शाम पकड़ी चौक स्थित बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक सेवा केंद्र पर गया। अचानक पीछे से हरियठ पंचायत के मुखिया रजी अहमद वहां पहुंचे। उसे खींचकर बाहर लाया और मारपीट कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक शिलशंकर झा, बद्री नारायण चौधरी, महमूद आलम आदि ने काफी मशक्कत कर बीच बचाव कर उसकी जान बचाई। इलाज के लिए अलीनगर सीएचसी में भर्ती किया जहां इलाज के घंटों बाद होश आने पर पुलिस को बयान दिया। सअनि धीरज कुमार ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है। अनुसंधान किया जा रहा है।

सूचना के अधिकार के तहत वापस कराया था पैसा बताते हैं कि हशमुद्दीन आंसारी ने अगस्त 2015 में सूचना के अधिकार के तहत मुखिया द्वारा अपनी पत्नी और निर्वतमान मुखिया फरिदा खातून, पुत्र तथा पुत्री सहित चार पारिवारिक सदस्यों के नाम से फर्जी फसल क्षति मुआवजा लेने मामले का खुलासा किया था। राशि वापस भी हुई। उस समय हशमुद्दीन की पत्नी उप मुखिया नहीं थी। पंचायत चुनाव के बाद उप मुखिया बनी। तब से लगातार दोनों के बीच संबंध खराब होता गया। करीब एक सप्ताह पहले भी हशमुद्दीन ने फर्जी तरीके से प्रधानमंत्री आवास दिलाने के मामला को खुलासा कर पैसा वापस कराया था। कई मामले की जांच भी चल रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप