दरभंगा, जागरण संवाददाता। अलीनगर थानाक्षेत्र के गरौल गांव में शुक्रवार को एक साथ दो युवकों की मौत के बाद से मातमी सन्नाटा पसरा है। दोनों युवक एक सड़क हादसे का शिकार हो गए थे। मधुबनी जिले में हुई घटना के बाद शुक्रवार को जब दोनों के शव गांव पहुंचे तो स्वजनों के चीत्कार पर हर आंख रोई। हर चेहरे पर दुख साफ नजर आया।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि मोहम्मद जब्बार के पुत्र मोहम्मद जिलानी को गुजरात जाने के लिए दरभंगा स्टेशन से ट्रेन पकड़ना था। उन्हें स्टेशन पहुंचाने के लिए मोहम्मद नसीम का पुत्र नदीम 22 तथा परवेज के पुत्र इसराफिल 17 तीनों एक साथ एक ही अपाचे बाइक से गुरुवार की रात आठ बजे घर से दरभंगा के लिए निकले। रास्ते में सकरी थाना से आगे अज्ञात वाहन की चपेट में आ गए। नदीफ की मौत घटनास्थल पर ही हो गई ।जबकी इसराफिल ने इलाज के क्रम में दम तोड़ दिया। जख्मी जिलानी का ईलाज दरभंगा के एक निजी अस्पताल में चल रहा है।

दो महीने पहले हुई थी नदीम की शादी

नसीम के पुत्र नदीम पांच बहन व दो भाईयों में दूसरे नंबर पर थे। उनकी शादी अब से करीब दो माह पहले घनश्यामपुर थाना के लगमा गांव में शाहिन प्रवीण के साथ हुई थी। शादी की बाइक से ही तीनों दरभंगा जा रहे थे। हादसे में नदीम के मौत की सूचना के बाद से मां जन्नती खातून पत्नी शाहिन प्रवीण सहित अन्य स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

मुंबई में मजदूरी कर परिवार चलाते हैं ईशराफिल के पिता

हादसे के शिकार हुए ईशराफिल के परिवार की बुरी हालत है। बताते हैं कि उनके पिता परवेज आलम सपरिवार मुंबई में रहकर मजदूरी करते हैं। वो रविवार को पूरे परिवार के साथ कुछ दिनों के लिए घर आए थे। हादसे के बाद वो पूरी तरह से टूट गए हैं। मृतक तीन भाई भाई तथा दो बहनों में सबसे बड़ा था। बेटी की मौत के बाद मां रिजवाना खातून व अन्य स्वजनों का बुरा हाल है। 

Edited By: Umesh Kumar